मजदूर खुश / भाड़ौती में 7 साल बाद मनरेगा कार्य शुरू

MNREGA work started after 7 years in hell
X
MNREGA work started after 7 years in hell

  • आर्थिक समस्या को देखते हुए मनरेगा के तहत 300 को मिला रोजगार

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

भाड़ौती. गांव में रोजगार नहीं मिलने की वजह से लोग शहरों की तरफ पलायन कर रहे थे। गांव में ही रोजगार उपलब्ध हो इसे लेकर सरकार ग्रामीण क्षेत्र में मनरेगा योजना शुरू कर मजदूरों को गांव में रोजगार देने की योजना शुरू की थी। योजना के तहत एक जॉब कार्ड पर 100 दिन रोजगार देने की गारंटी थी। लेकिन ग्राम पंचायत भाड़ौती में पिछले 7 वर्ष से मनरेगा कार्य बंद था। जिससे जॉब कार्ड शोपीस बनकर रह गए थे। ग्रामीण गरीब मजदूर रोजगार की तलाश में शहरों की तरफ पलायन कर रहे थे।

पंचायत प्रशासन की कोशिशों के बाद ग्रामीणों को मनरेगा के तहत मस्टररोल शुरू हुई तो मजदूर ग्रामीणों के चेहरे खिल उठे। सरपंच दीनदयाल मीणा ने बताया कि लॉकडाउन में मजदूरों के सामने आर्थिक समस्या उत्पन्न हो गई थी। आर्थिक समस्या को देखते हुए मनरेगा के तहत 300 लोगों को रोजगार मिला है। सामाजिक दूरी की पालना करते हुए तालाब व झडेली खुदाई का कार्य शुरू करवाया गया है।
सोशल डिस्टेंसिंग में कार्य करते श्रमिक
बालेर| मनरेगा के तहत सोशल डिस्टेंसिंग में कार्य करते श्रमिक बालेर कोविड-19के संक्रमण की रोकथाम के लिए अहम सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क का पहनकर कार्य शुरू किया। ग्राम विकास अधिकारी दिनेश चंद शर्मा, रोजगार सहायक हेमंत शर्मा ने बताया की वैश्विक महामारी कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए मनरेगा श्रमिकों को प्रशासन व सरकार के दिशा निर्देशों के अनुसार ही कार्यस्थल पर सोशल डिस्टेंसिंग मे कार्य करवाया जा रहा है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना