मानसरोवर बांध की वेस्टवेयर क्षतिग्रस्त मामला:सांसद जौनपुरिया ने किया मानसरोवर बांध का दौरा, अधिकारियों को दिए जल्द से जल्द मरम्मत करने के निर्देश

सवाई माधोपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मानसरोवर बांध पर ग्रामीणों से बात करते सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया। - Dainik Bhaskar
मानसरोवर बांध पर ग्रामीणों से बात करते सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया।

मानसरोवर बांध की वेस्टवेयर के क्षतिग्रस्त भाग को दुरुस्त करने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। इसको लेकर शनिवार को टोंक सवाई माधोपुर सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया ने मानसरोवर बांध पहुंच कर स्थिति का जायजा लिया। सांसद के मानसरोवर बांध पहुंचने की सूचना पर विभागीय व प्रशासनिक अधिकारी भी आनन फानन में मौके पर पहुंचे।

सांसद जौनापुरिया ने संबंधित अधिकारियों एवं खण्डार उपखंड प्रशासन को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने मौके पर मौजूद ग्रामीण पुरुष एवं महिलाओं से कहा कि वे मामले को लेकर बेहद गंभीर हैं। बोले- लोकसभा छोड़कर चंबल व मानसरोवर बांध की स्थिति देखने पहुंचा हूं। वर्तमान में मानसरोवर बांध की स्थिति नियंत्रण में हैं। वह अधिकारियों से लगातार बात कर रहे हैं।

जौनपुरिया ने मौके पर मौजूद खंडार उपखंड अधिकारी एवं तहसीलदार को निर्देश दिए कि चंबल एवं भारी बारिश से प्रभावित सभी गांवों में फसलों की गिरदावरी कर खराबे की स्थिति को जाने एवं मुआवजे की कार्रवाई करें। वहीं क्षेत्र में हो रहे अतिक्रमण को हटवाने के लिए आदेश दिए। उन्होंने लोकसभा में भी इस प्रस्ताव को रखे जाने की बात कही।

शनिवार को ग्रामीणों द्वारा मानसरोवर बांध की वेस्टवेयर को पक्का करने की मांग करने पर विभाग के जयपुर वृत्त के अधीक्षण अभियंता अंबुज त्यागी ने ग्रामीणों को आश्वस्त करते हुए बताया कि आज मशीनों के लिए रास्ता बना दिया गया है। दो दिनों से मिट्टी के कट्टों के द्वारा पहले वेस्टवेयर को सुरक्षित बनाया जा रहा है। मशीनें अंदर चली गई हैं एवं बांध की वेस्टवेयर को सुरक्षित स्थिति में ला दिया जाएगा।

पानी कम होने के बाद डिजाइन के अनुसार इसको पक्का बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। इधर, विभाग द्वारा शनिवार को मजदूरों की संख्या बढ़ा दी है। मौके पर तीन जेसीबी मशीन भेजी गई हैं एवं मिट्टी खुदाई के कार्य में तेजी लाई गई। वहीं अधिक मात्रा में मिट्टी से भरे कट्टे वेस्टवेयर की डाउनस्ट्रीम में भरकर उसको मजबूत करने की कवायद जारी है।

खबरें और भी हैं...