पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ई-संजीवनी ओपीडी सेवा:अब मरीजों को घर बैठे ही मिल रहा चिकित्सा परामर्श

सवाई माधोपुर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोनाकाल में मरीजों को ओपीडी सेवा के लिए अस्पताल जाने से मिल रही निजात

सूरवाल मरीजों को घर बैठे चिकित्सकीय परामर्श सेवाएं देने के लिए राज्य सरकार द्वारा ई संजीवनी ओपीडी सेवा संचालित की जा रही है, जिसमें मरीजों को उपचार के लिए अस्पताल आने की जरूरत नहीं है, उन्हें घर बैठे ही चिकित्सकीय परामर्श मिल रहा है। इससे अस्पतालों में भीड़ में भी कमी आ रही है। लोगों को कोरोना काल में खतरे से बचने के लिए इसका लाभ ले सकते हैं। इस सुविधा के माध्यम से मरीजों को चिकित्सकों से सुलभता व सरलता से परामर्श सेवा प्राप्त हो पा रही है।

सीएमएचओ डॉ. तेजराम मीना ने बताया कि सरकार ने ई संजीवनी ओपीडी सेवा शुरू की गई है, जिसमें विभिन्न अस्पतालों में चिकित्सक सुबह 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक निशुल्क परामर्श सेवाएं दे रहें है। संजीवनी ओपीडी सेवा का लाभ ऑडियो के साथ वीडियो कॉल पर भी उपलब्ध है। इस सुविधा का लाभ मोबाइल, कम्प्यूटर, लैपटॉप, टेबलेट के साथ वेब कैमरा, माइक, स्पीकर व इंटरनेट कनेक्शन की सहायता से उठाया जा सकता है। इसके लिए रोगी को पंजीयन के बाद जो टोकन नंबर मिलेगा उसे लॉगिन करने के बाद डॉक्टर से परामर्श की प्रक्रिया शुरू होगी।

मरीज ऐप के माध्यम से ऐसे करवा सकते है पंजीकरण

सीएमएचओ ने बताया कि मरीज अपने स्मार्ट फोन पर प्ले स्टोर से में ई संजीवनी ऐप डाउनलोड करे। इसके बाद जहां रजिस्ट्रेशन पर क्लिक किया जा सकेगा।अथवा कम्प्यूटर, लैपटॉप, टेबलेट के माध्यम से वेब पोर्टल पर जाकर ई संजीवनी ओपीडी डॉट इन टाइप करना है। इसके बाद रजिस्ट्रेशन पर क्लिक किया जाएगा। मरीज को अपनी जानकारी और मोबाइल नंबर एंटर करने होंगे, जहां मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा। इसे सेव करना होगा।

इसके बाद वेब पोर्टल या ऐप पर ही ई संजीवनी वेबसाइट पर मरीज अपने मोबाइल नंबर और पासवर्ड में उसे मिले टोकन नंबर डालकर लॉग इन करेगा, जिसके बाद उस मरीज को जिस डॉक्टर से परामर्श लेना है उसकी जानकारी एंटर करनी पड़ेगी। 10 से 15 मिनट के अंदर मरीज को परामर्श मिल जाएगा। डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन को डाउनलोड कर मरीज दवा खरीद सकता है। इस प्रकिया को कोई भी व्यक्ति कर सकता है और सीधे मरीज को चिकित्सक से परामर्श दिला सकता है।

चिकित्सक भी ले रहे विशेषज्ञों की सेवाएं : जिले के चिकित्सक भी मरीज की समस्या के अनुरूप विशेषज्ञ चिकित्सकों से इस सुविधा के माध्यम से परामर्श कर रहें हैं। किसी मरीज के लिए यदि जिले के किसी चिकित्सक को विशेषज्ञ चिकित्सक के परामर्श की आवश्यकता होती है तो वह ई संजीवनी ऐप के माध्यम से परामर्श लेकर मरीज की समस्या का समाधान कर उपचार कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...