पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मनरेगा में बढ़ रही श्रमिकों की संख्या:श्रमिकों की संख्या 33 हजार पार, एक माह से बंद पड़ा काम फिर से पटरी पर लौटा

सवाई माधोपुर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कार्यालय जिला परिषद सवाई माधोपुर। - Dainik Bhaskar
कार्यालय जिला परिषद सवाई माधोपुर।

कोरोना की महामारी से बेरोजगार हुए ग्रामीणों को मनरेगा में कार्य मिलने से राहत मिलने लगी हैं। करीब एक माह से बन्द मनरेगा कार्य धीरे-धीरे पटरी पर लौटने लगा हैं।

मनरेगा कार्यो को शुरू करने के लिए राज्य सरकार ने 24 मई को आदेश निकाला था, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते श्रमिकों की संख्या भी कम थी। इसी के साथ पंचायतों के पास भी कोरोना बचाव के लिए पर्याप्त संसाधन नही थे, लेकिन अब जून के माह में शुरू हुए पखवाड़े में श्रमिकों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है।

नए पखवाड़े के तहत 1 जून को मजदूरों का आंकड़ा 20 हजार पहुंच गया। जो कि 5 जून को बढ़कर 33 हजार पार हो गया है। इससे ग्रामीणों को भी रोजगार के लिए शहरों की ओर पलायन नही करना पड़ रहा है। वही अब रबी की फसल कटने के कारण अधिकांश ग्रामीण फ्री है। इसमें प्रवासी मजदूरों को भी रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है।

यह है स्थिति :

जिले के 6 ब्लॉक जो कि बौली, सवाई माधोपुर, खण्डार, चौथ का बरवाड़ा, बामनवास , गंगापुर सिटी है, जिसमें 229 पंचायतें है । जिनमे 222 पंचायतों में नरेगा के तहत कार्य चल रहा है । जिसमें श्रमिकों की संख्या के नजर से देखे तो सबसे अव्वल पर बौली ब्लॉक है , यहां कुल 52 पंचायतों में से 50 पंचायतों में 9242 लेबर कार्य कर रही है । वही पंचायतों की नजर से देखे तो गंगापुर सिटी अव्वल है यहां कुल 44 पंचायतों में सभी मे नरेगा कार्य चालू है । वही बामनवास की 41 में से 38 पंचायतों में, चौथ का बरवाड़ा की 23 में से 23 पंचायतों में, खण्डार की 32 में से 31 पंचायतों में , सवाई माधोपुर की 37 में से 36 पंचायतों में नरेगा कार्य चल रहे हैं ।

फैक्ट फाइल (मजदूरों में 1 जून से 5 जून तक बढ़ोतरी):

ब्लॉक1 जून (श्रमिक)5 जून(श्रमिक)

बामनवास

48159062
बौंली79819242
चौथ का बरवाड़ा6711870
गंगापुर सिटी30553601
खण्डार21656162
सवाई माधोपुर14713191

यह हो रहे कार्य :

गर्मी आने के साथ ही आगामी बारिश के मौसम को देखते हुए जल सरंक्षण के कार्यों को प्राथमिकता से प्राथमिकता से करवाए जा रहे हैं। इसके तहत जिले के पंचायत स्तर पर चैक डेम,एनीकट व पुराने तालाबों की मरम्मत की जा रही है ।

इनका कहना है:

" पिछले 1 जून से नरेगा साइटों पर श्रमिकों की संख्या में इजाफा हो रहा है । साइटों पर कोरोना गाइडलाइन का पालन करवाते हुए कार्य शुरू किए हैं ।

रामस्वरूप चौहान, सीईओ, जिला परिषद