पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

माफियाओं द्वारा दिनदहाड़े वारदात:अफसर घटना के बाद कार्रवाई तो दूर कुछ बोलने से कतरा रहे

सवाई माधोपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • खंडार कस्बे के व्यस्ततम शुक्ला तिराहे पर वन विभाग ने जब्त किए लकड़ियों से भरी ट्रैक्टर ट्राॅली ले जाने का मामला

खंडार कस्बे के सबसे व्यस्ततम शुक्ला तिराहे पर माफियाओं द्वारा दिनदहाड़े वारदात के बाद वन विभाग पूरी तरह से खौफजदा है। वन अफसर घटना के बाद मैदान में उतर कर कार्रवाई करने की बजाए माफियाओं के खिलाफ कुछ बोलने से भी कतरा रहे है। वह इतने डरे हुए है कि जिन्होंने वारदात को सरेआम अंजाम दिया, उनका नाम बताने से भी वह बच रहे है। ऐसे में क्षेत्र में रणथंभौर राष्ट्रीय अभयारण्य एवं इसकी संपदा पर माफियाओं का खतरा बढ़ता नजर आ रहा है। रणथंभौर राष्ट्रीय अभयारण्य की बानीपुरा बीट में तारागढ़ दुर्ग की तलहटी में शनिवार दोपहर 1 बजे एक दर्जन से अधिक माफियाओं द्वारा अनाधिकृतरूप से प्रवेश कर वन संपदा की अवैध कटाई जोरों पर चल रही थी। मौके पर कार्रवाई करने पहुंची वन विभाग की टीम लकड़ियों से भरा ट्रेक्टर ट्रॉली जब्त कर गिलाईसागर चौकी पर ले जा रही थी। इसी दौरान शुक्ला तिराहे पर 70 से 80 माफियाओं ने सरेबाजार वन विभाग की टीम पर हमला कर दिया और वनकर्मियों से मारपीट कर जब्त लकड़ियों से भरे ट्रेक्टर ट्रॉली को छुड़ाकर ले गए। वहीं वन विभाग की टीम को अपनी जान बचाकर भागना पड़ा था।

कार्रवाई नहीं होने से बढ़े हौसलेवनकर्मियों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि वन विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों पर पूर्व में भी हमले की कई घटनाएं हो चुकी है। लेकिन कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं होने के चलते माफियाओं के हौसले लगातार बढ़ रहे है और अब तो वह सरेबाजार ही वनकर्मियों पर हमला कर राजकार्य में बाधा पहुंचाने के साथ साथ पुलिस एवं प्रशासन को खुली चुनौति दे रहे है। उन्होंने बताया कि 6 माह पूर्व रणथंभौर अभयारण्य में चितल का शिकार करते हुए विभागीय कैमरे में शिकारियों का फोटो ट्रेप हुआ था। जब वन विभाग के अधिकारी पुलिस व प्रशासन के साथ जेतपुर गांव में कार्रवाई करने पहुंचे तो ग्रामीणों ने वन विभाग सहित पुलिस व प्रशासन पर धावा बोल दिया और सभी को अपनी जान बचाकर उल्टे पांव वहां से दौड़ना पड़ा था। इस मामले में भी नामजद हमलावरों पर कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं हो पाई है। क्षेत्र में इस तरह की कई घटनाएं हो चुकी है।

कर्मचारियों का टूटा मनोबल: इस मामले में रणथंभौर बाघ परियोजना सवाईमाधोपुर के एसीएफ अरविंद झा ने बताया कि हमने अपना विभागीय कार्य किया था। घटना के समय पुलिस स्वयं मौके पर पहुंची थी। हम हर घटना से सीख लेते है। इस घटना में हम चार आदमी थे और माफियाओं का संख्या बल ज्यादा था। इससे आरोपी जब्त वाहन को लेकर भाग गए। वन विभाग के कर्मचारियों के साथ इस तरह के घटना होना दुर्भाग्यपूर्ण है, इससे कर्मचारियों का मनोबल टूटता है। कहीं ना कहीं कमजोरी हमारी भी रही थी हमको और मजबूत होना होगा। अगली बार हम पूरी दम खम से कार्रवाई करेगें। बजरी और पत्थरों के अवैध खनन में तो कई बार ट्रेफिक पुलिस तक को माफिया कुचल देते है। माफियाओं के हौसले बुलंद है। उनके लिए शुक्ला तिराहा हो या अन्य जगह, कोई मायने नहीं रखती।

मुकदमा मैंने ही दर्ज कराया, लेकिन जानकारी अमर सिंह जी देंगे^कार्यवाहक क्षेत्रीय वनाधिकारी राजेंद्र सिंह का कहना है कि इस मामले में खंडार थाने में 5 नामजद व 70-80 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा मैंने ही दर्ज करवाया है। नामजद किन किन लोगों को किया है तथा इस मामले में आगे की क्या विभागीय कार्रवाई चल रही है। इस संबंध में पूरी जानकारी खंडार क्षेत्रीय वनाधिकारी अमर सिंह ही बताएगें। क्योंकि वह छुट्टी से लौट आए है और मैं छुट्टी चला गया हूं।मैं छुट्टी पर हूं, राजेंद्र जी देंगे जानकारी^अमर सिंह क्षेत्रीय वनाधिकारी खंडार का कहना है कि इस मामले की पूरी जानकारी कार्यवाहक क्षेत्रीय वनाधिकारी राजेंद्र सिंह ही देगें, उन्हीं पर चार्ज है। क्योंकि में अभी छुट्टी पर हूं।^अरविंद झा एसीएफ सवाईमाधोपुर का कहना है कि नामजद आरोपियों के संबंध में खंडार कार्यवाहक क्षेत्रीय वनाधिकारी राजेंद्र सिंह ही जानकारी देगें। थाने पर मुकदमा दर्ज करवाया है। अगली बार हम सावधानीपूर्वक कार्रवाई करेगंे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उत्तम व्यतीत होगा। खुद को समर्थ और ऊर्जावान महसूस करेंगे। अपने पारिवारिक दायित्वों का बखूबी निर्वहन करने में सक्षम रहेंगे। आप कुछ ऐसे कार्य भी करेंगे जिससे आपकी रचनात्मकता सामने आएगी। घर ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser