पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आंगनबाड़ी में पोषाहार वितरण करने की मांग:आंगनबाड़ी केन्द्रों पर पुन: पोषाहार आपूर्ति के स्वयं सहायता समूहों को दें आदेश, कलेटर को दिया ज्ञापन

सवाई माधोपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आंगनबाड़ी में पोषाहार वितरण करने वाले स्वयं सहायता समूहों ने मंगलवार को मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर नन्नूमल पहाड़िया को ज्ञापन देकर पुन: पोषाहार वितरण का जिम्मा स्वयं सहायता समूहों को देने की मांग की है। साथ ही बकाया राशि जमा कराने की मांग भी की है। स्वयं सहायता समूहों के अध्यक्षों ने ज्ञापन में बताया कि आंगनबाड़ी महिला कर्मियों द्वारा सरकार के आदेशानुसार ग्रामीण महिलाओं को जोड़कर स्वयं सहायता समूह बनाए गए। स्वयं सहायता समूहों को पोषाहार तैयार कर आंगनबाड़ी केन्द्रों पर आपूर्ति करने के आदेश भी दिए गए। बकाया राशि होने के बावजूद स्वयं सहायता समूहों द्वारा पोषाहार की आपूर्ति की जाती रही। इसके बावजूद वर्तमान राज्य सरकार ने पोषाहार बंद कर दिया गया। पोषाहार में बदलाव करते हुए पंजीरी के स्थान पर गेहूं, दाल देने के आदेश कर बाल विकास मातृ समितियों से आपूर्ति ली जा रही है। इससे स्वयं सहायता समूह बेरोजगार हो गए। मातृ समितियों ने अग्रिम राशि भी जमा नहीं कराई है। समूहों की आपूर्ति राशि भी गत आठ माह से बकाया चल रही है। साथ ही स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। स्वयं सहायता समूहों के अध्यक्षों ने मुख्यमंत्री गहलोत से पोषाहार आपूर्ति कार्य स्वयं सहायता समूहों से करवाने की मांग की है। साथ ही बकाया राशि भी जमा करवाने की मांग की है। ज्ञापन देने वालों में स्वयं सहायता समूहों की अध्यक्ष नंदू, किरण, सुशीला, चमेली, अनोखी देवी, विजय लक्ष्मी, माया, शीला, दिलबर आदि शामिल रही।
सवाईमाधोपुर|आंगनबाड़ी कार्मिकों ने मानदेय, भवन किराया, स्टेशनरी आदि का भुगतान करने तथा आंगनबाड़ी कार्मिकों की अन्य समस्याओं के निस्तारण को लेकर महिला एवं बाल विकास विभाग की
उपनिदेशक को ज्ञापन सौंपा है। अखिल राजस्थान महिला एवं बाल विकास विभाग संयुक्त कर्मचारी संघ एकीकृत की गरिमा राजावत ने ज्ञापन में बताया कि आंगनबाड़ी कार्मिकों को समय पर मानदेय नहीं मिल रहा है। दो-तीन वर्षों से भवन किराया बकाया है। 2017 के बाद मानदेय कर्मियों को स्टेशनरी की आपूर्ति नहीं की गई है। इसका खर्चा मानदेय कर्मी को अपनी जेब से भुगतना पड़ रहा है। विभागीय अधिकारियों द्वारा सूचनाएं हार्ड कॉपी मोबाइल से निकलवा कर फोटोकॉपी करवाई जाती है।  इससे 100 से 150 रुपए अतिरिक्त खर्च आता है। जबकि यह सूचनाएं सादा कागज पर भी ली जा सकती है। विभागीय अधिकारियों द्वारा फॉरमेट निकाल कर ही फोटो कॉपी करवा सूचनाएं देने का दबाव बनाया जाता है। यह सारे खर्चे आंगनबाड़ी कार्मिकों को अपनी जेब से करना पड़ता है। इससे एक हजार से आठ सौ रुपए अतिरिक्त भार आता है। मातृ समितियों से पोषाहार वितरण करवाया जा रहा है। जबकि उनसे अग्रिम राशि भी नहीं ली गई है। आंगनबाड़ी कार्मिकों से पोषाहार खरीद कर वितरण करने का दबाव बनाया जाता है। इससे कार्मिक मानसिक तनाव में है। आंगनबाड़ी कार्मिकों ने मानदेय, भवन किराया, स्टेशनरी आदि का भुगतान करने तथा आंगनबाड़ी कार्मिकों की अन्य समस्याओं के निस्तारण की मांग की है। ज्ञापन देने वालों में आंगनबाड़ी कार्मिक चित्रलेखा भदौरिया सहित विभिन्न आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उपस्थित रहीं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें