पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पैंथर का मूवमेंट:रसूलपुरा में एक माह से पैंथर का मूवमेंट, चंबल नदी से गंडावर में आया मगरमच्छ

सवाई माधोपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रात होते ही आबादी में आया पैंथर, ग्रामीणों ने वीडियो बनाकर वन विभाग को भेजा, फिर भी नजरअंदाज

क्षेत्र की बड़ागांव सरवर पंचायत के रसूलपुरा में कई दिनों से पैंथर का मूवमेंट होने से ग्रामीणों में दहशत है। शाम होते ही पैंथर के खेतों व घनी आबादी के बीच स्वच्छंद विचरण करने से ग्रामीण भय के साए में जी रहे हैं। ऐसा भी नहीं है कि ग्रामीणों द्वारा पैंथर को पकड़ने के लिए वन विभाग के अधिकारियों को सूचित नहीं किया हो। करीबन दो सप्ताह पूर्व ग्रामीण वन विभाग के अधिकारियों को पैंथर को पकड़ने के लिए अवगत करा चुके हैं, लेकिन वन विभाग के अधिकारियों ने अभी तक कोई कारगर कदम नहीं उठाया है। ग्रामीणों ने बताया कि रसूलपुरा की पहाड़ी में एक माह से पैंथर का एक गुफा के अंदर रह रहा है। इसका आसपास के क्षेत्र में मूवमेंट है। शाम होते ही वह शिकार की टोह में पहाड़ी की गुफा से निकलकर खेतों व गांव के अंदर विचरण करने लगता है। वह अब तक कई पशुओं का शिकार भी कर चुका है। ग्रामीणों का कहना है कि दिन में लाइट नहीं मिलने से रात भर खेतों में पळाव करे रबी की बोआई में जुटे हैं। ऐसे में पैंथर से भय का माहौल है। शाम 6:00 बजे के बाद गांव के अंदर आना-जाना भी भारी पड़ता है। सोमवार रात्रि को भी पैंथर सड़क मार्ग कर रहा था। इसका ग्रामीणों ने वीडियो बनाकर वायरल किया, लेकिन इसके बावजूद विभाग के अधिकारियों का उसे पकड़ने करने की ओर कोई ध्यान नहीं है।

किसानों ने आधी रात को वन विभाग की टीम बुलाई, मगरमच्छ को पकड़कर गिलाईसागर बांध में छोड़ा

भास्कर न्यूज | खंडारउपखंड मुख्यालय क्षेत्र की ग्राम पंचायत गंडावर के एक खेत में मंगलवार रात सिंचाई कर रहे किसानों के समीप अचानक से एक मगरमच्छ आ धमका। बाद में सूचना पर मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम ने मगरमच्छ को पकड़कर गिलाईसागर बांध में छोड़ा, तब जाकर क्षेत्र के किसानों ने राहत की सांस ली।गंडावर के किसानों ने बताया कि वह फसलों की बुवाई के लिए रात को अपने खेतों में सिचाई कार्य कर रहे थे। इसी दौरान चंबल नदी से एक मगरमच्छ उनके खेतों में पहुंच गया। खेतों में मगरमच्छ को देखकर किसान घबरा गए और उन्होंने सुरक्षित स्थानों पर पहुंचकर वन विभाग को रातोंरात सूचना दी गई। इस पर वन विभाग की ओर से लखन, राजेंद्र, राजेश, हरिवल्लभ आदि फॉरेस्ट गार्ड व होमगार्ड की टीमतत्काल मौके पर पहुंची तथा बड़ी मशक्कत के बाद मगरमच्छ को टीम ने पकड़कर अपने साथ ले गई। बाद में मगरमच्छ को रणथंभौर अभयारण्य के गिलाईसागर बांध में छोड़ा गया।अमर सिंह कार्यवाहक क्षेत्रीय वनाधिकारी खंडार का कहना है कि गंडावर क्षेत्र के खेतों में रात को मगरमच्छ आ गया था। जिसे मौके पर पहुंची टीम ने पकड़कर सुरक्षित गिलाईसागर बांध में छोड़ा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर विजय भी हासिल करने में सक्षम रहेंगे। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से ...

और पढ़ें