पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोविड की दूसरी लहर घातक:सांसों की आस में अस्पताल की चौखट पर दम तोड़ रहे मरीज

सवाई माधोपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सवाई माधोपुर। जिला अस्पताल में मृतक के शव को एंबुलेंस में रखकर ले जाते परिजन। - Dainik Bhaskar
सवाई माधोपुर। जिला अस्पताल में मृतक के शव को एंबुलेंस में रखकर ले जाते परिजन।
  • तीन दिन में 38 मौतें, इनमें 5 पॉजिटिव थे

जिले में कोरोना संक्रमण कहर बनकर टूट रहा है। दूसरी लहर का संक्रमण इतना खतरनाक है कि मरीजों को संभलने का मौका ही नहीं दे रहा। सांसों की आस में अस्पताल आ रहे मरीज चौखट पर ही दम तोड़ रहे हैं। इस माह चार दिन में 38 मौतें तो जिला अस्पताल में हो चुकी है। रोजाना जिले के अस्पतालों के वार्डों में दम तोड़ रही सांसों के सामने चिकित्सा महकमे ने भी घुटने टेक दिए हैं। जिला प्रशासन और चिकित्सा विभाग भी मौतों के आगे बेबसी और लाचारी के आंसू बहा रहा है। वहीं दूसरी और मृतकों के परिजन अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं।

यहां तक अस्पताल में अब रोज लडाई-झगडे की नौबत आ रही है, हालांकि जिला प्रशासन ने ऐसे परिजनों की आवाज को दबाने के लिए अस्पताल में आरएसी के जवान तैनात किए हैं।जानकारी के अनुसार पिछले 20 अप्रैल से जिले में रोजाना रिकॉर्ड तोड़ कोरोना संक्रमित केस सामने आ रहे हैं। रोजाना आने वाले संक्रमित केसों में अधिकांश पॉजिटिव केस को चिकित्सा विभाग द्वारा होम आइसोलेट किया जा रहा है। इसके अलावा कई मरीज ऐसे हैं, जिनकी रिपोर्ट नेगेटिव आने से वे घर पर ही चिकित्सकों की सलाह से दवाइयां ले रहे हैं। कई मरीजों की तबीयत ज्यादा खराब होने पर वे अस्पतालों में पहुंच रहे हैं।

जिले में रोजाना 15 से 20 लोग तोड़ रहेदम, प्रशासन छिपा रहा आंकड़ा

महामारी के इस संकट में चिकित्सा प्रशासन मौतों का सच छिपाने में जुटा हुआ है। संक्रमण अधिक फैलने से रोजाना जिले के अस्पतालों में करीब 15 से 20 मौतें रोज हो रही है। जिले में 20 अप्रैल से इस संबंध में सीएमएचओ से लेकर पीएमओ, नर्सिंग अधीक्षक व प्रोग्रामर तक से पूछने पर वे स्वयं को कोई जानकारी नहीं होने की बात कहते हुए एक दूसरे पर टालते रहे। जिला अस्पताल के वार्डों में रोज होने वाली मौतों का रिकॉर्ड रजिस्टरों में उपलब्ध है, लेकिन चिकित्सा प्रशासन देना ही नहीं चाहता। मरने वालो में अधिकांश की आरटी-पीसीआर रिपोर्ट नेगेटिव है। चिकित्सा प्रशासन का तर्क है कि वे केवल कोविड से होने वाली मौतों का ही रिकॉर्ड रखते हैं।

2 मई को 12 और 3 मई को10 से तोडा दम

जिला अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार एक मई से अब तक जिला अस्पताल में 38 मरीजों की मौत हुई है। इनमें से 5 मृतकों की रिपोर्ट ही कोरोना पॉजिटिव है। प्रतिदिन होने वाली मौतों की बात करें तो एक मई को 2 मरीजों की मृत्यु हुई। 2 मई को 12 मरीजों ने दम तोडा। इनमें केवल एक मरीज ही ऐसा था, जिसकी आरटीपीसीआर रिपोर्ट पॉजिटिव थी। वहीं 3 मई को 10 मौतें हुई, जिनमें से 2 कोरोना पॉजिटिव थे। इसी प्रकार चार मई को मौतों का आंकड़ा बढकर 14 पर पहुंच गया। मंगलवार को हुई 14 मौतों में 2 मौतें कोरोना पॉजिटिव मरीजों की हुई है।

जिन मृतकों की एसआरएफ आईडी होती है, उन्हीं को कोरोना मृतकों की सूची में शामिल किया जाता है। अस्पतालों में होने वाली मृत्यु की सूचना कई दिनों बाद आती है। कोरोना पॉजिटिव के अलावा जिन मृतकों की आरटीपीसीआर रिपोर्ट नेगेटिव होती है, उनका हम रिकॉर्ड नहीं रखते।-डॉ. कैलाश सोनी, सीएमएचओ

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें