ट्रेंकुलाइज कर भालू को किया रेस्क्यू:देर रात रणथंभौर के जंगल से निकलकर शहर में आया भालू, 3.30 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद पकड़ा

सवाई माधोपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भालू को रेस्क्यू कर ले जाती रेस्क्यू टीम। - Dainik Bhaskar
भालू को रेस्क्यू कर ले जाती रेस्क्यू टीम।

बजरिया में शनिवार तड़के करीब 3 बजे एक भालू रणथंभौर के जंगल से निकलकर शहर में आ गया। भालू के शहर में आने की सूचना से लोगों में हड़कंप मच गया। स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना वन विभाग को दी, जिसके बाद रणथंभौर की रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंची। रेस्क्यू टीम ने करीब साढ़े तीन घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद भालू को ट्रेंकुलाइज कर रेस्क्यू किया।

प्रत्यक्षदर्शी श्रीकिशन शर्मा ने बताया कि सीमेंट फैक्ट्री की तरफ से निकलकर एक भालू पुलिस लाइन से होता हुआ सिविल लांइन, टोंक रोड, चौथ का बरवाड़ा बस स्टैंड से रेलवे स्टेशन के पास स्थित सिटी सेंटर मॉल पहुंच गया। इसकी सूचना स्थानीय लोगों ने आरओपीटी रेंजर एसएन सारस्वत को दी। सूचना मिलने पर वनाधिकारी और रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंची। रेस्क्यू टीम ने करीब साढ़े तीन घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद भालू को ट्रेकुंलाइज कर रेस्क्यू कर लिया।

वनाधिकारियों ने बताया कि भालू के शरीर पर एक हल्का घाव भी था। ऐसे में आलनपुर स्थित पशु अस्पताल में भालू का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। इसके बाद भालू को रणथंभौर नेशनल पार्क के सोन कच्छ इलाके में छोड़ दिया गया। इस दौरान आरओपीटी रेंजर एसएन सारस्वत, रेस्क्यू टीम प्रभारी राजवीर सिंह, जसकरण मीणा, बालकिशन, रणथम्भौर टाइगर रिजर्व के डॉ. सीपी मीणा मौजूद रहे।