ऑनलाइन दिखाया जाएगा रावण दहन:शहर में पहाड़ी पर 51 फीट के रावण का होगा दहन, स्थानीय केबल और फेसबुक लाइव पर कार्यक्रम देख सकेंगे शहरवासी

सवाई माधोपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नगर रामलीला मंडल। - Dainik Bhaskar
नगर रामलीला मंडल।

सवाई माधोपुर शहर में विजय दशमी (दशहरा) के अवसर पर हर साल की तरह इस साल भी 51 फीट का रावण दहन किया जाएगा। इसको लेकर नगर रामलीला मंडल की ओर से सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। रावण दहन कार्यक्रम में केवल 200 लोगों को अनुमति दी जाएगी। इस दौरान पुलिस जाब्ता तैनात रहेगा, ताकि कोरोना गाइडलाइन की पालना करवाई जा सके।

नगर रामलीला मंडल के प्रवक्ता दिलीप शर्मा ने बताया कि सवाई माधोपुर शहर मे हर साल की तरह इस साल भी भव्यता के साथ दशहरा दहन का कार्यक्रम आयोजित होगा। शर्मा ने बताया कि कोरोना गाइडलाइन के चलते इस बार 200 लोगों से ज्यादा की अनुमति नहीं होने के कारण रावण दहन का कार्यक्रम ऑनलाइन दिखाया जाएगा। यह 1952 से लेकर अब तक के इतिहास में पहली बार होगा कि जब रावण दहन का कार्यक्रम शहरवासी ऑनलाइन देख सकेंगे।

पहाड़ी पर लगा रावण का पुतला।
पहाड़ी पर लगा रावण का पुतला।

इससे पहले नगर रामलीला मंडल की ओर से इस बार रामलीला मंचन के सभी संस्करण ऑनलाइन दिखाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में अब नगर रामलीला मंडल की ओर रावण दहन के कार्यक्रम को ऑनलाइन दिखाया जाएगा। शहर के सभी नागरिकों को रावण दहन कार्यक्रम फेसबुक लाइव के जरिए दिखाई जाएगीा। इसके साथ ही स्थानीय केबल पर भी रावण दहन कार्यक्रम का प्रसारण किया जाएगा।

बता दें कि सवाई माधोपुर शहर में रावण दहन एक प्रमुख आकर्षण का केन्द्र रहता है। यहां करीब 51 फीट लम्बा रावण बनाया जाता है। जिसका दहन रामलीला मैदान के पास पहाड़ी पर किया जाता है। पहाड़ी पर रावण दहन होने से अपने घरों से ही दूर-दूर तक शहर वासी देख पाते है। कोरोना काल से पहले सवाई माधोपुर में दशहरे के पर्व पर एक मेले का भी आयोजन किया जाता था, लेकिन इस बार कोरोना के चलते मेले का आयोजन नहीं किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...