विधायकों का एक साल का रिपोर्ट कार्ड:विधानसभा क्षेत्र में विकास कार्यों में विधायक कोष से सवाई माधोपुर विधायक दानिश अबरार ने दिए सबसे अधिक 248 लाख रुपए

सवाई माधोपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गंगापुर विधायक रामकेश मीना रहे फिसड्‌डी, विधायक इंदिरा मीना दूसरे व अशोक बैरवा तीसरे स्थान पर रहे
  • चारों विधायकों ने कोविड-19 तथा विकास कार्यों के लिए कुल 488.26 लाख रुपए की विधायक कोष से की स्वीकृतियां जारी

विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए वर्ष 2021-22 में 14 दिसम्बर 21 तक विधायक कोष की राशि खर्च करने में सवाईमाधोपुर विधायक दानिश अबरार 248 लाख रुपए खर्च कर चारों विधायकों से अव्वल रहे, वहीं मात्र 58 लाख रुपए खर्च कर गंगापुर विधायक रामकेश मीना फिसड्‌डी साबित हुए। विधानसभा क्षेत्र में विधायक कोष से खर्चने में बामनवास विधायक इन्दिरा मीना 116 लाख रुपए देकर दूसरे तथा खण्डार विधायक अशोक बैरवा 66.26 लाख रुपए विकास के लिए खर्च कर तीसरे स्थान पर रहे। राज्य की कांग्रेस सरकार के तीन साल 18 दिसम्बर को पूरे हो जाएंगे।

इसके चलते जिले के सवाईमाधोपुर, गंगापुर सिटी, खण्डार तथा बामनवास विधायक का क्षेत्र के विकास को लेकर रिपोर्ट कार्ड जांचा गया। जिला परिषद सवाईमाधोपुर से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार चारों विधायकों द्वारा कोविड-19 से बचाव के लिए जमकर विधायक कोष की राशि अपने विधानसभा क्षेत्र में दी। चारों विधायकों ने तीसरे साल के कार्यकाल में कोविड-19 के लिए 304 लाख रुपए की स्वीकृतियां जारी की। जबकि विकास कार्यों के लिए मात्र 184.26 लाख रुपए ही दिए। चारों विधायकों ने कोविड-19 तथा विकास कार्यों के लिए कुल 488.26 लाख रुपए की विधायक कोष से स्वीकृतियां जारी की है।

सवाईमाधोपुर विधायक दानिश अबरार ने क्षेत्र विकास योजना 2021-22 के तहत कोविड-19 के लिए 153 लाख रुपए की अभिशंसा की तथा स्वीकृतियां भी जारी हुई। वहीं विकास कार्यों के लिए 105 लाख रुपए की अभिशंसा विधायक द्वारा की गई तथा 95 लाख रुपए की स्वीकृति जारी हुई। इसी तरह बामनवास विधायक इन्दिरा मीना ने कोविड-19 के लिए 61 लाख तथा विकास कार्यों के लिए 55 लाख रुपए की अभिशंसा की और स्वीकृति भी जारी हो गई। खण्डार विधायक अशोक बैरवा ने कोविड-19 के लिए 39 लाख की अभिशंसा की और स्वीकृति भी जारी हुई।

वहीं विकास कार्यों के लिए 91.26 लाख रुपए की अभिशंषा की तथा 27.26 लाख की ही स्वीकृति जारी हुई। इसी तरह गंगापुर विधायक रामकेश मीना ने कोविड-19 के लिए 51 लाख की अभिशंषा की तथा स्वीकृति भी जारी हो गई। विकास कार्यों के लिए विधायक ने मात्र 8.86 लाख रुपए की अभिशंषा की तथा सात लाख के कार्यों की स्वीकृति जारी हुई। एक भी विधायक खर्च नहीं कर पाया विधायक कोष की पूरी राशि: जिला परिषद से प्राप्त आंकड़ों की बात करें तो जिले के चारों विधायक विधायक कोष के लिए मिलने वाली पूरी राशि को खर्च करने में भी कंजूस साबित हुए हैं। क्षेत्र विकास योजना वर्ष 2019-20 में प्रति विधायक 112.50 लाख रुपए (कुल-450 लाख) की राशि सरकार द्वारा दी गई।

खबरें और भी हैं...