पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

VIDEO, फाइव स्टार रेटिंग वाला सरकारी स्कूल:भीलवाड़ा मॉडल देख आइडिया आया, चार दिन में स्कूल के कमरों को बना दिया ट्रेन के कोच जैसा, तीन साल से 100 प्रतिशत रिजल्ट, फिट इंडिया का सम्मान भी मिला

सवाईमाधोपुर21 दिन पहले
राजकीय माध्यमिक स्कूल, जिसके 5 कमरों को महज 4 दिन में ही ट्रेन के कोच जैसा बना दिया।

सवाई माधोपुर जिले के बामनवास उपखण्ड के टोडा गांव का सरकारी माध्यमिक स्कूल देशभर के सरकारी स्कूलों के लिए मिसाल बना है। स्कूल को फाइव स्टार रेटिंग दी गई है। इस स्कूल के कमरों को ट्रेन की कोच जैसा बनाया गया है। इसके अलावा यहां तीन साल से रिजल्ट भी 100 प्रतिशत है।

प्रिंसिपल प्रेमराज मीणा ने बताया कि कुछ समय पहले वे भीलवाड़ा गए थे, वहां भी एक ऐसा ही स्कूल देखा तो आइडिया आया। इसके बाद चार दिन में ही स्कूल कमरों को ट्रेन के कोच जैसा बना दिया। इस स्कूल में अभी 260 स्टूडेंट पढ़ते हैं और 12 टीचर का स्टाफ है। खास बात यह है कि पिछले तीन साल से स्कूल का रिजल्ट भी 100 प्रतिशत है। इसी वजह से राजस्थान सरकार की ओर से इस स्कूल को 5 स्टार रेटिंग दी गई है।

प्रिंसिपल का कमरा ट्रेन का इंजन

स्कूल का रंग-रोगन ट्रेन की तरह इसलिए करवाया है ताकि बच्चों को यहां पढ़ने के लिए आकर्षित किया जा सकें। स्कूल के 5 क्लास रूमों को ट्रेन के डिब्बों की तरह रंगा गया है। इन क्लास रूमों के अंतिम कक्षा की दीवार को ट्रेन के अंतिम डिब्बे की तरह ही हू-बहू रंगा गया है। इसके साथ ही स्कूल प्रिंसिपल के कमरे को ट्रेन का इंजन बनाया गया है।

राजस्थान सरकार ने दिया फाइव स्टार सर्टिफिकेट।
राजस्थान सरकार ने दिया फाइव स्टार सर्टिफिकेट।

एक आइडिया ने बदल दी तस्वीर

स्कूल के प्रिंसिपल प्रेमराज मीना का कहना है कि एक आइडिया ने स्कूल की तस्वीर बदल कर रख दी। 12 हजार रुपए के बजट में स्कूल के कमरों का रूप ही बदल गया। स्कूल में अभी 20 से ज्यादा महापुरुषों की प्रतिमाएं स्थापित करने का काम चल रहा है और 100 पेड़ लगाए जा चुके हैं।

फिजिकल एक्टिविटी वाले सभी खेल

इस स्कूल की खासियत यह भी है कि बच्चों की सेहत को लेकर भी ध्यान रखा जाता है। यहां फिजिकल एक्टिविटी वाले सभी गेम है और उनको लेकर प्रतियोगिताएं भी होती रहती है। इस वजह से स्कूल को भारत सरकार के खेल व युवा मामलात मंत्रालय द्वारा फिट इंडिया सम्मान से भी नवाजा जा चुका है।

खबरें और भी हैं...