बीच सड़क पर भिड़े सांड:कभी एक-दूसरे का पीछा करते, कभी आमने सामने की टक्कर मारते, लोग यहां-वहां भागने लगे, तीन बाइक गिराई

सवाई माधोपुरएक महीने पहले
मित्रपुरा कस्बे के मुख्य बाजार में झगड़ते सांड। गनीमत रही कि इस दौरान कोई राहगीर चोटिल नहीं हुआ।

बौंली के मित्रपुरा कस्बे में दो सांडों की लड़ाई से मंगलवार को लोगों में घबराहट हो गई। दो सांडों में बीच सड़क पर जमकर संघर्ष हुआ। लड़ते-लड़ते कभी वे एक-दूसरे के पीछे भागते तो कभी आमने-सामने का संघर्ष करते। बाजार में आए लोग इस लड़ाई के बीच खुद को बचते-बचाते रहे। स्थिति यह थी कि दोनों सांडों ने यहां खड़ी तीन बाइक को गिरा भी दिया, जिससे वे क्षतिग्रस्त भी हो गई।

कस्बे के लोगों का कहना है कि सांडों की यह लड़ाई कोई पहली बार नहीं हुई है। इस प्रकार के आए दिन होने वाले संघर्ष से उन्हें दो-चार होना पड़ता है। ऐसे में सबसे ज्यादा दिक्कत महिलाओं व बच्चों को होती है। कभी-कभी उन्हें इनसे बचने के लिए खासी मशक्कत करनी पड़ती है। खराब हालात के बावजूद कस्बे में घूमते सांडों के लिए स्थानीय प्रशासन कोई पुख्ता इंतजाम तक नहीं करता।

मंगलवार शाम साढ़े 5 बजे की है घटना
यहां पशुओं की लड़ाई के कारण कई बार हादसे भी हो चुके हैं। यह ताजा घटना मंगलवार शाम करीब 5:30 बजे की है। घटना में केवल बाइक ही क्षतिग्रस्त हुई, गनीमत रही कि कोई व्यक्ति घायल नहीं हुआ। सांडों की लड़ाई के दौरान आसपास सड़क पर मौजूद लोगों की सांसें अचानक सांसत में आ गई। पहले भी कई बार सड़क पर सांडों के संघर्ष मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें स्थानीय लोग घायल हो चुके हैं।

इनका कहना है
मित्रपुरा के नवीन तहसील बनने के बाद से लगातार गौशाला की मांग की जा रही है। उच्च स्तर पर लिखित में मांग की गई है। गौशाला खोली जाने पर ही स्थायी समाधान हो सकेगा।
-लालाराम मीना, सरपंच

फोटो-वीडियो-: आशीष मित्तल