नशा मुक्ति केंद्र में फंदे से झूलता मिला युवक:परिजनों ने नशा छुड़वाने के लिए कराया था भर्ती, रस्सी का फंदा लगाकर की आत्महत्या

सवाई माधोपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
युवक को 31 दिसंबर को ही पत्नी और बहन नशा मुक्ति केंद्र में छोड़कर गई थी। - Dainik Bhaskar
युवक को 31 दिसंबर को ही पत्नी और बहन नशा मुक्ति केंद्र में छोड़कर गई थी।

सवाई माधोपुर में नशा मुक्ति केन्द्र में एक युवक ने फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। युवक को गत 31 दिसंबर को नशा छुड़वाने के लिए उसकी पत्नी और बहन यहां छोड़कर गई थी। शुक्रवार शाम करीब 5 बजे अनिल मीणा ने रोशनदान की जाली में रस्सी का फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। थोड़ी देर बाद नशा मुक्ति केंद्र के गार्ड ने उसे फंदे पर लटका पाया। जिसके बाद नशा मुक्ति केन्द्र के स्टाफ ने उसे नीचे उतारा और पुलिस को सूचना दी।

शहर चौकी प्रभारी जितेंद्र सिंह ने बताया कि सुसाइड करने वाला युवक अनिल मीणा (39) पुत्र राजेश मीणा निवासी चौथ का बरवाड़ा है। 31 दिसंबर को उसकी पत्नी और बहन नशा छुड़वाने के लिए उसे सवाई माधोपुर शहर हायर सेकेंडरी स्कूल के पास नशा मुक्ति केन्द्र में छोड़कर गई थी। शुक्रवार शाम करीब पांच बजे अनिल ने रोशनदान की जाली में रस्सी का फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। नशा मुक्ति केंद्र के स्टाफ की सूचना पर शहर पुलिस चौकी प्रभारी जितेन्द्र सिंह मय जाब्ता मौके पर पहुंचे और मौका मुआयना किया।

जितेंद्र सिंह ने बताया कि शव को कब्जे में लेकर जिला अस्पताल मोर्चरी में पहुंचाया, जहां पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है। प्रथम दृष्टया नशे की तलब के चलते सुसाइड करना माना जा रहा है। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही सुसाइड के कारणों का पता लगा सकेगा। फिलहाल परिजनों की ओर से मामले रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई गई है।