शिकायत के बाद भी नहीं रुका घटिया सामग्री का उपयोग:ऑक्सीजन प्लांट मे हो रहा घटिया निर्माण सामग्री का उपयोग, सीएचसी प्रभारी की लिखित शिकायत के बाद भी नही किया सुधार

सवाई माधोपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ऑक्सीजन प्लांट में कच्ची ईंटो का उपयोग करते हुए। - Dainik Bhaskar
ऑक्सीजन प्लांट में कच्ची ईंटो का उपयोग करते हुए।

खंडार उपखण्ड मुख्यालय की सीएचसी में बन रहे आक्सीजन प्लांट मे ठेकेदार की ओर से घटिया निर्माण सामग्री का उपयोग किया जा रहा है। कोरोना काल में आक्सीजन की कमी के कारण कई लोगो को अपनी जान से हाथ धोना पडा। इसके बाद राज्य सरकार की ओर से 65 लाख रूपए का आक्सीजन प्लांट तैयार करने के लिए क्षेत्रीय विधायक अशोक बैरवा के द्वारा राशि स्वीकृत करवाई थी। जिसके बाद यहां आक्सीजन प्लांट का काम चल रहा हैं। जिसमे घटिया सामग्री के उपयोग शिकायत के बाद भी हालत जस के तस बने हुए हैं।

यहां कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए आक्सीजन प्लांट की तैयार करवाया जा रहा है, लेकिन ठेकेदार की मनमानी के चलते घटिया निर्माण सामग्री का उपयोग किया जा रहा है। आक्सीजन प्लांट में कच्ची सीमेंट का उपयोग लिया जा रहा है। लोहे की एंगल मजबूत नही लगाई जा रही है। इसके बारें में सीएचसी प्रभारी डॉ रामराज मीणा नें घटिया निर्माण सामग्री उपयोग मे लाने की लिखित व मौखिक शिकायत सीएमएचओ को कर दी हैं । इसके बाद भी हालत कोई कार्रवाई नही हो रही हैं। जिससे आने वाले में समय यह निर्माण कभी कभी ढह सकता हैं, लेकिन प्रशासन इसे लेकर गंभीर नहीं दिख रहा हैं।

विकास के कार्य रोजाना नही होते
सीएचसी परिसर में वैक्सीन सेंटर के पास बन रहें आक्सीजन प्लांट की घटिया निर्माण सामग्री को देख ग्रामीण ओम सिंह,भुवनेश,मनोज कुमार आदि नें बताया कि उपखण्ड मुख्यालय पर विकास के कार्य रोजाना नही होते हैं। कोरोना काल मे लोगों ने अस्पतालो को आक्सीजन सलेण्डर दान किए हैं, लेकिन ठेकेदार अपने मुनाफे के चलते आक्सीजन प्लांट मे घटिया निर्माण कर रहा है । ठेकेदार की मनमानी स्थानीय लोगो पर भारी पडेगी। ग्रामीणो ने क्षेत्रीय विधायक अशोक बैरवा से ठेकेदार का ठेका निरस्त करवाने की मांग की हैं। ग्रामीणों ने विधायक से काम का ठेका दूसरे ठेकेदार को देने की मांग की हैं।

इस मामले में सीएचसी प्रभारी डॉ रामराज मीणा का कहना है कि आक्सीजन प्लांट में ठेकेदार के द्वारा घटिया निर्माण सामग्री का उपयोग हो रहा हैं। जिसकी शिकायत उच्चाधिकारियो कों कर दी हैं, लेकिन इसके बाद भी कार्रवाई नही हो रही हैं। वहीं बीसीएमएचओं खंडार डॉ. कुलदीप मीणा का कहना हैं कि मै अभी नया आया हूं। मुझे इस बारे मे जानकारी नही हैं। आक्सीजन प्लांट में गुणवत्तापूर्ण सामग्री का उपयोग किया जाएगा। सीएमएचओ को इसके बारे में अवगत करवाउंगा। सहायक अभियंता को अवगत करवाकर निर्माण सामग्री में गुणवत्ता लाएंगें।

फोटो : गणेश शर्मा

खबरें और भी हैं...