बेटे को न्याय दिलाने के लिए धरने पर बैठी मां:बोलीं- पुलिस ने दर्ज नहीं की फायरिंग की FIR, बेटे को झूठे मामले में पकड़ा

सवाई माधोपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कलेक्ट्रेट के बाहर धरने पर बैठी पीड़िता। - Dainik Bhaskar
कलेक्ट्रेट के बाहर धरने पर बैठी पीड़िता।

जिला मुख्यालय पर दिनदहाड़े फायरिंग की दो वारदातें हो चुकी है। इन वारदातों को 7 दिन बीत जाने के बाद बाद भी पुलिस खाली हाथ है। रणथम्भौर रोड स्थित कुंडेरा बस स्टैंड पर हुई वारदात मामले में विजय मीणा की मां कमला मीणा ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए है। कमला मीणा ने पूरे मामले की लिखित शिकायत मुख्यमंत्री से की है। उन्होंने बताया कि 18 नवंबर सुबह 9 बजे कुंडेरा बस स्टैंड पर उनके बेटे विजय मीणा और उसके साथियों पर कुछ जाति विशेष के लोगों ने जान से मारने की नीयत से कई राउंड गोलियां चलाई थी। हालांकि विजय मीणा और उसके साथी जान बचाकर भागने में सफल हो गए थे।

शिकायत में उसने बताया कि हमले की जानकारी मिलने पर वह अपने बेटे के साथ पुलिस थाना कोतवाली पहुंची। जहां उसको करीब 9 घंटे तक थाने में बैठाकर रखा गया और रात 8 बजे घर जाने दिया। जबकि उसके बेटे विजय को पूरी रात थाने में पूछताछ के नाम पर रखा गया। पीड़िता ने बेटे पर फायरिंग का मुकदमा दर्ज कराना चाहा, तो उसकी एफआईआर दर्ज नहीं की गई। अगले दिन वह अपने बेटे को छुड़ाने कोतवाली थाने पहुंची तो पुलिस ने उसके बेटे को हथियार के साथ गिरफ्तार करना दिखाया, जबकि उसके पास ऐसा कोई हथियार नहीं था। पीड़िता की मां ने पुलिस पर राजनीतिक दबाव में काम करते हुए फायरिंग के असली आरोपियों को गिरफ्तार नहीं करने का आरोप लगाया।

धरने पर बैठी पीड़िता
विजय मीणा की मां कमला देवी बीते दो-तीन दिन से कलेक्ट्रेट के सामने धरने पर बैठी हुई है। उन्होंने आरोपियों की गिरफ्तारी और अपने बेटे को न्याय दिलाने की मांग की है।

एक सप्ताह बाद भी आरोपी पुलिस गिरफ्त से बाहर
सवाई माधोपुर के दो दिनों में दो थाना क्षेत्रों में दिनदहाड़े फायरिंग की वारदातें हुई थी, लेकिन दोनों ही मामलों में आरोपी गिरफ्तार नहीं हुआ है। पहले मामले में 17 नवंबर को मानटाउन थाना क्षेत्र के खेरदा की अंबेडकर कॉलोनी में फायरिंग की घटना सामने आई थी। जबकि 18 नवंबर को कोतवाली थाना क्षेत्र के रणथम्भौर रोड़ स्थित कुंडेरा बस स्टैंड पर फायरिंग की घटना सामने आई थी। दोनों मामलों को 1 सप्ताह बीतने के बाद भी आरोपी पुलिस गिरफ्त से बाहर है।

इनका कहना है
फिलहाल आरोपियों की तलाश की जा रही है। पुलिस टीमें आरोपियों के वांछित ठिकानों पर दबिश दे रही है।
-जगदीश भारद्वाज, थानाधिकारी, मानटाउन थाना

आरोपियों की तलाश के लिए तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। मामले में जल्द ही आरोपी पुलिस गिरफ्त में होंगे।
-चन्द्रभान सिंह, थानाधिकारी, कोतवाली थाना