पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रोड पर डामर उखड़ी:दो माह में ही रणथंभौर रोड पर डामर उखड़ी, घटिया निर्माण से जगह-जगह गहरे गड्‌ढे

सवाई माधोपुर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गणेश धाम तिराहे से कुंडेरा की ओर जाने वाले रणथंभौर रोड पर कुछ माह पूर्व सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा टेंडर के जरिए डामरीकरण एवं कार्य पूर्ण होने के बाद रेडियम पट्टी लगाई गई थी। यह रोड महत्वपूर्ण होने के बावजूद भी डामरीकरण के कार्य में इतनी लापरवाही बरती गई कार्य पूर्ण होने के दो महीने बाद ही सड़क से डामर उखड़ कर गड्ढे पड़ने शुरू हो गए। सड़क पर कई जगह हल्का डामर डालने के कारण गिट्टी दिखाई दे रही है।

सड़क निर्माण के बाद सड़क के बीच में लगाई गई रेडियम सफेद पट्टी को देखा जाए तो वह एकदम हल्की व घटिया क्वालिटी की थी। लोगों ने बताया कि रेडियम सफेद पट्टी चमकीली नहीं होने से वाहन चालकों को इसका कोई लाभ नहीं हो रहा है। रणथंभौर रोड के पास के लोगों ने बताया कि सड़क पर डामरीकरण करते समय ठेकेदार के द्वारा अपने फायदे के अनुसार ही निर्माण कार्य कराया है। सार्वजनिक निर्माण विभाग का कोई भी अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित नहीं था।निर्माणकर्ता ठेकेदार को कार्य पूरा होने के बाद भुगतान देने से पूर्व सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों द्वारा कार्य की गुणवत्ता की जांच की जाती है और उसके बाद ही भुगतान किया जाता है।

निर्माण कार्य में कमी होने पर संबंधित ठेकेदार को कार्य सुधारने का अवसर दिया जाता है। क्षेत्र के रामसिंह मीणा, मुकेश मीणा, पृथ्वीराज मीणा, सुवालाल मीणा, उद्धव शर्मा कुंडेरा आदि लोगों ने सड़क निर्माण की उच्च स्तरीय जांच एवं संबंधित दोषी व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने चेतावनी दी है कि इस कार्य में लीपापोती की गई तो उन्हें आंदोलन करने को मजबूर होना पड़ेगा।इस बारे में सार्वजनिक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता से बात करने के कोशिश की गई, लेकिन उन्होंने एक बार फोन उठाने के बाद उस नंबर को ब्लैक लिस्ट में डाल दिया। सानिवि अधिकारी इस मामले में कुछ बताने से बच रहे हैं।

खबरें और भी हैं...