डेयरी बूथों को हटाने का मामला:महिला ने MLA पर अभद्र भाषा में बात करने का लगाया आरोप, बूथ नहीं हटाने के लिए मिलने गई थी

सवाई माधोपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोप लगाने वाली महिला और विधायक दानिश अबरार (फाइल फोटो)। - Dainik Bhaskar
आरोप लगाने वाली महिला और विधायक दानिश अबरार (फाइल फोटो)।

नगर परिषद की ओर से जिला अस्पताल के बाहर डेयरी बूथों को हटाने का मामला गरमाता हुआ दिखाई दे रहा है। बुधवार को नगर परिषद की ओर से सौंदर्यीकरण के लिए डेयरी बूथ हटाया जा रहा था। तभी जिला भाजपा के पदाधिकारी व कार्यकर्ता जेसीबी के सामने बैठ गए और जेसीबी के सामने ही धरना देने गए। मामला बढता देख नगर परिषद जेसीबी को वापस लौट गई थी। अब इसी मामले में एक नया मोड़ आया है। जब एक महिला ने विधायक दानिश अबरार पर अभद्र भाषा का उपयोग करने का आरोप लगाया है।

जिला अस्पताल के बाहर डेयरी बूथ का संचालन करने वाली चेतना देवी ने बताया कि नगर परिषद की ओर से डेयरी बूथ हटाए जाने का दबाव डाला जा रहा है। जिसके चलते वह सभी लोगों के साथ स्थानीय विधायक दानिश अबरार के आवास पर मिलने गई थी। जहां विधायक ने उनके साथ अभद्र भाषा में बातचीत की।

चेतना बताती है कि वहां विधायक ने सबसे पहले उन्हें बुलाया और समस्या पूछी इस पर चेतना ने कहा कि साहब मेरी डेयरी डॉ महेन्द्र जैन के क्वार्टर के बाहर है। जिसे चलाकर वह अपने परिवार का पालन कर रही है। उसे डेयरी लगाए हुए 9 महिने ही हुए है। इसके लिए मैंने कर्जा लिया था, उसका कर्जा भी अभी नहीं चुका है। इस पर विधायक ने उनसे कहा कि 9 महिने में बच्चे बच्ची पैदा हो जाते है। डेयरी तो चीज ही क्या है।

चेतना आरोप है कि एक जनप्रतिनिधि को इस तरह महिला से बात करना शोभा नहीं देता है। वहीं मामले में दैनिक भास्कर डिजिटल की ओर से विधायक से सम्पर्क करने पर उन्होंने फोन उठाकर काट दिया और उसके बाद बार बार फोन करने पर भी फोन नहीं उठाया।

बहरहाल मामला बढ़ता देखकर नगर परिषद की ओर से इन डेयरी बूथ संचालको को सीएमएचओ ऑफिस के बाहर डेयरी लगवाने का आश्वासन दिया है। जबकि डेयरी संचालको का कहना है कि वहां ग्राहक आएगे। इसकी समभांवना कम ही है। भविष्य फिर से उन्हे सीएमएचओ ऑफिस के बाहर से भी हटा दिया गया तो वह क्या करेगे।

खबरें और भी हैं...