रणथम्भौर का जोन नम्बर 9 होगा रोस्टर फ्री:वनाधिकारियों ने सरकार को भेजा प्रस्ताव, मंजूरी मिलने के बाद विंडो से डायरेक्टर ले सकेंगे जिप्सी कैंटर

सवाई माधोपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रणथम्भौर टाइगर रिजर्व। - Dainik Bhaskar
रणथम्भौर टाइगर रिजर्व।

रणथम्भौर के जोन नंबर 9 को वन विभाग ने रोस्टर फ्री करने की तैयारी कर ली है। रणथम्भौर के वनाधिकारियों ने इसके लिए सरकार को प्रस्ताव बनाकर भेज दिया है। सरकार की मंजूरी के बाद जल्द ही रणथम्भौर का जोन नम्बर 9 रोस्टर फ्री हो जाएगा। सीजन के दौरान रणथम्भौर पर्यटकों की भारी तादाद आती है। इनके में से काफी लोगों को टिकट नहीं मिल पाता है। जिससे वह रणथम्भौर में टाइगर सफारी का लुफ्त नहीं उठा पाते है और निराश होकर लौटना पड़ता है।

रणथंभौर के वनाधिकारियों की ओर से पर्यटकों की समस्या का समाधान करने के लिए राज्य सरकार को एक प्रस्ताव बनाकर भेजा गया है। जिसमें इन समस्याओं का जिक्र करते हुए रणथम्भौर के जोन नंबर 9 को रोस्टर फ्री करने का प्रस्ताव भेजा गया है। प्रस्ताव को मंजूरी मिलने के बाद पर्यटक सीधे टिकट विंडो से रसीद काटकर रोस्टर फ्री जिप्सी कैंटर लेकर सफारी कर सकेगे।

यह है रोस्टर प्रणाली

रणथम्भौर नेशनल पार्क में संचालित जिप्सी कैंटरों के लिए रोस्टर प्रणाली अपनाई जाती है। जिसमें कुल संचालित वाहनों का नम्बर क्रमवार रोटेट होता है। टिकट बुकिंग के बाद इन क्रमवार वाहनों का पर्यटकों को आवंटन होता है। जिसके बाद वह सफारी करते है। ऐसे में टिकट नहीं मिलने पर कई बार पर्यटकों को निराश होना पड़ता है। अब इस प्रस्ताव को मंजूरी मिलने के बाद पर्यटकों को सीधे जोन नम्बर 9 में सफारी के लिए वाहन उपलब्ध हो सकेगे।

गौरतलब है कि रणथम्भौर के जोन नंबर 9 में बाघ टी-62 व टी-110 जोन नम्बर 9 में विचरण करते हैं। फिलहाल टी-60 का मूवमेंट गाजीपुर इलाके में व टी-110 का मूवमेंट क्वालजी वन क्षेत्र में है।

रणथंभौर में पर्यटकों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए जोन नंबर 9 में रोस्टर फ्री वाहन चलाने का प्रस्ताव सरकार को बनाकर भेजा गया है। मंजूरी के बाद यह जोन रोस्टर फ्री हो जाएगा।

टीसी वर्मा, सीसीएफ, रणथम्भौर।

खबरें और भी हैं...