आंधी तूफान के कारण 36 घंटे तक बिजली रही गुल:बिजली लाइन टूटने से बिजली सप्लाई रही बाधित, लोगों ने की 181 पोर्टल पर शिकायत

शाहपुरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जमवारामगढ़ उपखंड के गठवाडी, ताला, धोला, बोबाड़ी, जयचंदपुरा सहित आसपास के क्षेत्र में आई तेज आंधी ने जन जीवन अस्त व्यस्त कर दिया। लोगों के टीनशेड उड गए। कई पक्षी भी आंधी के चलते मारे गए। गठवाड़ी की नोहरे की ढाणी में एक नीम का पेड गिरने से एक भैंस नीचे दब गई।

वहीं महंतों के बाग में एक खजूर का पेड़ टूट कर गिर गया। आंधी से आम के बगीचों में भारी नुकसान हुआ। आम के पेड़ों में लगी कैरियां आंधी से टूट कर गिर गई। बड़ी संख्या में बबूल के पेड़ उखड़ गए। भोजपुरा में उड़ कर आए टीनशेड से एक भैंस घायल हो गई। गोपाल बुनकर के मकान की दीवार गिर कर टीनशैड तहस नहस हो गए। दूसरी ओर कई जगह बिजली लाइन टूटने से कस्बे सहित दर्जनों गांव ढाणियों की बिजली सप्लाई ठप हो गई। सुबह लाईनों की मरम्मत शुरू हुई। कस्बे की सिंगल फेज बिजली तो सुबह 10 बजे आई। लेकिन थ्री फेज बिजली लाईन का फॉल्ट नही मिलने से यह भी सुचारू नही हो पाई। और मिनटों के अंतराल पर बिजली आती जाती रही। करीब 3 बजे से थ्री फेज बिजली की सप्लाई सुचारू हो सकी। इस दौरान जहां लोगों को पेयजल समस्या का सामना करना पड़ा। वहीं लोगों के रोजमर्रा के काम भी अटक गए।

धोला में 36 घंटे से बिजली गुल

इस दौरान धोला गांव में सोमवार रात को आए तेज आंधी के अंधड़ से बिजली के पोल गिरने से लाइन में आए फाल्ट के कारण 36 घंटे बाद भी सही नहीं किया गया। जिससे क्षेत्र में 36 घंटे तक बिजली सप्लाई बाधित है। लोगों के इनवर्टर भी जबाब दे चुके है। लोगों ने बिजली चालू कराने की मांग को लेकर सरकार के 181 पोर्टल पर शिकायत की।

खबरें और भी हैं...