पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

समस्या:दो दिन बाद मालेश्वर महादेव मंदिर की हजारों फीट ऊंची पहाड़ियों पर फिर लगी आग, हरे पत्ते, टहनियां ही वनकर्मियों का सहारा

शाहपुरा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • हजारों फीट ऊंची पहाड़ियों पर नहीं है पानी की माकूल व्यवस्था
  • संसाधनों के अभाव में वन कर्मियों के कपड़े व जूते जले, 4 महीने में तीन बार लगी बड़ी आग

हाड़ोता रेंज के सामोद वन नाका के अधीन आने वाले ग्राम पंचायत महारकलां के मालेश्वर महादेव मंदिर व पीपली जोहड़ी की हजारों फीट ऊंची पहाड़ियों पर बुधवार को दोपहर में अचानक दो दिन बाद एक बार फिर आग लग गई। जिसमें करीब 2 से 3 एकड़ के आसपास का जंगली एरिया जलकर राख हो गया। आग लगने की सूचना पर मौके पर वन विभाग की टीम ने पहुंचकर आग पर काबू पाने की काफी कोशिश की, लेकिन संसाधनों के अभाव में नाकाम होते नजर आए। मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम ने लकड़ियां, बोरियां ,टहनियां लेकर आग पर काबू पाया।

4 महीने में 3 बड़ी घटनाएं
जिम्मेदारों की लापरवाही के कारण 24 अक्टूबर 2020, 11 जनवरी 2021 व 13 जनवरी 2021 को लगातार क्षेत्र में लगी भीषण आग से कई बीघा का जंगली एरिया जलकर राख हो गया, लेकिन आमतौर पर आज भी उसी पहाड़ी में आग लगी है।
घटना का कारण चरवाहों की लापरवाही
क्षेत्र के जंगलों में हर साल गर्मी, सर्दी में आग लगने की घटनाएं सामने आती हैं। इसका सबसे बड़ा कारण चरवाहों द्वारा जलती बीड़ी फेंकने या भोजन पकाने संबंधी होते हैं।

2 से 3 एकड़ एरिया जला
3 दिन पहले भी शाम को हजारों फीट ऊंची पहाड़ियों पर आग लगने से 2 से 3 एकड़ का एरिया जलकर राख हो गया था। हाड़ोता रेंज के सामोद नाका वनकर्मी बनवारी बुनकर, पपेन्द्र वर्मा, विनोद मीना, राकेश मीना, महिपाल दादरवाल, अमरसिंह, ग्रामीणों में कालू राम कुम्हार आदि का कहना है कि दुर्गम पहाड़ियों में पानी ले जाना संभव नहीं है। बार बार लग रही आग को लेकर लोगों में प्रशासन की लापरवाही को लेकर भारी रोष व्याप्त है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप में काम करने की इच्छा शक्ति कम होगी, परंतु फिर भी जरूरी कामकाज आप समय पर पूरे कर लेंगे। किसी मांगलिक कार्य संबंधी व्यवस्था में आप व्यस्त रह सकते हैं। आपकी छवि में निखार आएगा। आप अपने अच...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser