अक्ल पर लट्‌ठ पड़ा है:वैक्सीनेशन टीम के पीछे डंडा लेकर दौड़ी बुजुर्ग, टीके की जानकारी दे रही आशा सहयोगिनी को लाठी और डंडों से

सिकरायएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बहरावंडा में आशा सहयोगिनी राजन्ती देवी पर एक युवक ने लाठी-डंडों से हमला कर दिया। - Dainik Bhaskar
बहरावंडा में आशा सहयोगिनी राजन्ती देवी पर एक युवक ने लाठी-डंडों से हमला कर दिया।

राज्य में घर-घर कोरोना टीकाकरण अभियान चल रहा है। लेकिन हमारे राज्य के कुछ लोग अब भी इस महामारी से बचाव के एकमात्र उपाय वैक्सीन के लिए उदासीन रवैया अपनाए हुए हैं। दौसा जिले के नांदरी गांव में मंगलवार दोपहर सीएचए भावना राजपूत और आंगनबाड़ी वर्कर सफेदी ने खेत में काम कर रही एक बुजर्ग महिला को कोरोना टीका लगवाने के लिए कहा, लेकिन महिला ने मना कर दिया।

टीम ने दोबारा उसे टीके के लिए कहा तो वह बोली- तू कोई थानेदार है क्या, जाओ यहां से नहीं तो खोपड़ी में डंडा मारूंगी और डंडा लेकर टीम की और दौड़ पड़ी। टीम को वैक्सीन बॉक्स लेकर वहां से भागना पड़ा।

बहरावंडा में आशा सहयोगिनी राजन्ती देवी पर एक युवक ने लाठी-डंडों से हमला कर दिया। राजन्ती ने बताया कि वह टीकाकरण की जानकारी देने एक घर में गई थीं, वहां एक युवक ने चले जाने काे कहा। उन्होंने समझाया तो युवक आग बबूला हो गया और हमला कर दिया। राजन्ती के हाथ और कमर में चोट आई है।

राज्य में 68.56% डोज गांवोंं में और 31.35% शहरों में लगी हैं

राज्य में अब तक 7.18 डोज लग चुकी हैं। इनमें से 4.93 करोड़ डोज गांवों में और शहरों में 2.25 करोड़ डोज लगाई जा चुकी हैं। इस तरह गांवों में 68.65% और शहरों में 31.35% डोज लगी हैं।

...और दौसा का हाल-

15.53 लाख डोज लगीं। सीएमएचओ डॉ. अमित मीणा ने हेल्थ वर्कर्स पर हमलों की पुष्टि की है। उन्होंने कहा है कि टीकाकरण का विरोध कर रहे लोगों पर अब एफआईआर कराई जाएगी।

खबरें और भी हैं...