प्रशासन सतर्क:जन अनुशासन पखवाड़े की पालना के लिए प्रशासन सतर्क

टोडाभीम6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भले ही सरकार ने कोरोना की चैन को तोड़ने के लिए 3 मई तक अनुशासन पखवाड़े के रूप में लॉकडाउन लगा दिया हो लेकिन बाजारों में उमड़ रही बे परवाह भीड़ के द्वारा अनुशासन पखवाड़े की अनदेखी की जा रही है। कस्बे के बाजारों में अभी भी लोग वैश्विक महामारी कोरोना के खतरे को समझ नहीं पा रहे हैं। सरकार द्वारा जारी की गई एडवाइजरी को लेकर दुकानदार व ग्राहक लापरवाह नजर आ रहे हैं। कस्बे में किराना से लेकर जिन आवश्यक सामान की दुकानों को सरकार व प्रशासन के द्वारा छूट दी गई थी लेकिन कस्बे में चोरी छिपे कुछ दुकानदार ग्राहकों को अपनी दुकानों में घुसकर बाहर से ताला लगा देते है और बाजार में अन्य दुकानदार अपनी दुकानों को खोलकर अपना कारोबार कर रहे हैं। इसके साथ ही जिन दुकानों को खोलने की अनुमति प्रशासन ने दी।

उन दुकानदारों ने भी अपनी दुकानों पर नो मस्क, नो एंट्री एवं साेशल डिस्टेंस की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही है। जब इनकी शिकायत पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के पास पहुंची तो मौके पर पहुंचे एसडीएम दुर्गाप्रसाद मीना, तहसीलदार पृथ्वीराज मीना, नायब तहसीलदार विनोद कुमार मीना सहित ब्लॉक सांख्यिकी अधिकारी महेश चंद जांगिड़ एवं पालिका कर्मियों के द्वारा दिन भर दुकानों को बंद करवाने में लगे रहे। पालिका की छापेमार कार्यवाही के दौरान अनेक दुकानदार शटर बंद कर या हाफ शटर डालकर ग्राहकों को अंदर घुसकर बाहर से ताला लगाकर सामान देते देखे गए ऐसे दुकानदारों के प्रशासन के द्वारा 55 रुपये के चालान काटकर करीब 10 दुकानों को सील किया गया। एसडीएम दुर्गाप्रसाद मीना ने बताया कि इनमें से कई दुकानों को 3 मई तक के लिए सील किया गया। तहसीलदार पृथ्वीराज मीना के नेतृत्व में पालिका प्रशासन के द्वारा गुरुवार को दुकानें सीज कर बिना मास्क व साेशल डिस्टेंस की अवहेलना करने वालों से जुर्माना वसूल किया गया।

खबरें और भी हैं...