पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना इफेक्ट:15 माह से स्कूल बंद बच्चों के भविष्य को लेकर चिंतित परिजन,

टोडाभीम8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण काल के चलते पहली से पांचवी तक के विद्यालय गत 15 माह से बंद पड़ी हुई है ।जिसके चलते छोटी उम्र के बच्चों के कंधों पर टांगने वाला बैग आज घरों की अलमारियों में धूल फांक रहा है जिसको लेकर बच्चों के अभिभावक उनके भविष्य को लेकर चिंतित दिखाई दे रहे हैं। अभिभावकों ने बताया कि इधर स्कूल बंद होने से छोटी उम्र के बच्चे घरों में ही है ऐसे में वे पहले ही पढ़ना लिखना भूलते जा रहे हैं। हालांकि कई अभिभावकों ने अब भी बच्चों से घरों में पढ़ने के लिए जोर आजमाइश कर रहे हैं किंतु स्कूल नहीं जाने वाला बच्चा घर पर भी मौज मस्ती करने में व्यस्त रहते हैं ।

अभिभावकों को वैश्विक महामारी कोरोना एवं उसके बाद स्कूल खुलने की उम्मीद जरूर है इससे बच्चों का भविष्य पुनः पटरी पर आ सकेगा । इधर कई बुजुर्गों का कहना है कि स्कूल बंद होने से जिन अभिभावकों ने 3 से 4 वर्ष की छोटी छोटी उम्र के बच्चों पर 5 से 7 किलो बस्ते का वजन लाद रखा था उससे कुछ दिन के लिए तो बच्चों को निजात मिल गई है।

खबरें और भी हैं...