किसानों में रोष:टोडा की कृषि गौण मंडी में कवर्ड प्लेटफार्म नहीं, किसानों में रोष

टोडारायसिंहएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

शहर की गौण कृषि मण्डी में फ्लेट फार्म व टीन शैड नहीं होने से किसानों को अपनी जिंस रास्ते में ही उतराने से हो रही असुविधा के चलते किसानों ने रोष जताया है। किसान महापंचायत के प्रदेश मंत्री रतन खोखर ने बताया कि कृषि गौण मंडी में प्लेट फार्म व टीन शैड नही होने से किसानों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। जबकि मंडी में किसानों के जिंस से सालाना 80.90 लाख की आय होती है। इसके बावजूद मंडी का विकास नगण्य है। मण्डी का विकास ठप है। जबकि राजस्थान सरकार ने टोडारायसिंह की कृषि गौण मण्डी को पूर्ण मण्डी का दर्जा देने की भी घोषणा की हुई है। मंडी में पर्याप्त जगह होने के बावजूद अभी तक न तो फ्लेट फार्म बना है और न ही टीन शैड लगाए गए है। इससे किसानों व व्यापारियों का बारिश में धान भीगता है। इस बाबत राजस्थान सरकार को कितनी ही बार ज्ञापन सौंपकर व धरना देकर भी अवगत करा दिया गया है। अब तक सिर्फ आश्वासन ही मिला है। अगर कृषि मण्डी में फ्लेट फार्म व टिन शैड नहीं बनाया तो किसानों को फिर से आंदोलन पर उतारू होना पडेगा।

खबरें और भी हैं...