पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Tonk
  • 25 Per Gas Cylinder Increased In 20 Days, On Average Three Lakh 93 Thousand LPG Consumers Of The District Will Have An Additional Load Of About One Crore In One And A Half Months, This Month Rs 901 Per Cylinder

रसोई गैस से 1 करोड़ रुपए का भार:20 दिन में घरेलू गैस सिलेंडर पर 25 रुपए बढ़े, 3 लाख 93 हजार उपभोक्ताओं पर हर डेढ़ माह में पड़ेगा एक्स्ट्रा भार

टोंक18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एजेंसी पॉइंट पर रखे गैस सिलेंडर। - Dainik Bhaskar
एजेंसी पॉइंट पर रखे गैस सिलेंडर।

कोरोना संकट के बीच गैस सिलेंडर के लगातार बढ़ रहे दाम उपभोक्ताओं की जेब पर भारी पड़ रहे हैं। सरकार ने इस माह से प्रति गैस सिलेंडर पर 25 रुपए की बढ़ोतरी की है। टोंक में 14.2 किलोग्राम वजनी घरेलू एलपीजी गैस सिलेंडर के दाम बढ़कर 875 रुपए से बढ़कर 901.01 रुपए हो गए हैं। इसी के साथ उपभोक्ता एवरेज डेढ़ माह में एक गैस सिलेंडर भरवाता है तो जिले के 3 लाख 93 हजार उपभोक्ताओं पर करीब 1 करोड़ का अतिरिक्त भार पड़ेगा। इससे गृहणियों का रसोई बजट और अधिक बिगड़ेगा। चिंता जताते हुए गृहणियों का कहना है कि पहले ही खाने-पीने के सामान और बिजली के दाम बढ़े हुए है और अब 20 दिन में ही दूसरी बार एक सितंबर से 25 रुपए प्रति सिलेंडर बढ़ा दिए हैं।

3 लाख 93 हजार उपभोक्ताओं पर भार

डीएसओ विनीता शर्मा ने बताया कि उज्जवला योजना में घर-घर गैस कनेक्शन के तहत लाखों नए उपभोक्ता रसोई गैस से जुड़े हैं। जिले में उज्ज्वला योजना के तहत करीब 1 लाख 55 हजार रसोई गैस कनेक्शन है । वहीं अन्य नियमित रसोई गैस कनेक्शन 2 लाख 37 हजार है। कुल मिलाकर गैस कनेक्शन के 3 लाख 93 हजार उपभोक्ता हैं। गैस एजेंसी से जुड़े दिनेश बुंदेल ने बताया कि इस साल रसोई गैस की कीमत मार्च माह में 835.50 रुपए, अप्रैल माह में 10 रुपए कम होकर 825.50 रुपए हो गए थे। तीन माह तक स्थिर रहने के बाद जुलाई में 851 रुपए, अगस्त में 876.50 और सितंबर 901 रुपए तक पहुंच गई।

गृहणियों का छलका दर्द

कोरोना काल में वैसे ही रोजगार के अभाव में परिवार की आर्थिक स्थिती खराब है। ऊपर से रसोई गैस के दाम लगातार बढ़ रहे है। हर महिने गैस सिलेंडर पर दाम बढ़ने से गरीब उपभोक्ताओं पर अधिक भार पड़ रहा हैं। नसीम बानो (गृहणी) - वार्ड नंबर 52, कालीपलटन।

सरकार को रसोई गैस के दाम को कम कर महंगाई को बढ़ने से रोकना चाहिए। करीब एक साल से लगातार रसोई गैस के दाम बढ़ रहे है। पहले चार-पांच रुपए बढ़ते थे, अब एक दो माह में ही 40-50 रुपए बढ़ाए जा रहे हैं। इस महिने भी 25 रुपए बढ़ने से रसोई बजट गड़बड़ा गया है।

जया विजय (गृहणी) - बमोर रोड संतोष नगर, टोंक।

कोरोना के इस मुश्किल वक्त में भी सरकार लगातार लोगों पर महंगाई और महिलाओं पर घरेलू गैस के दाम का बोझ बढ़ा रही हैं। एक सितंबर से घरेलू गैस की कीमतों में बढ़ोत्तरी होने से घर का बजट गडबड़ा रहा हैं। सावित्री चांवला (गृहणी) - गांधी पार्क व हनुमान मंदिर के पास, टोंक।

सरकार 20 दिन में ही दूसरी बार 25 रुपए गैस सिलेंडर के दाम बढ़ा चुकी हैं। ऐसे में घर का खर्चा कैसे चलेगा, कुछ समझ नहीं आता। पहले ही पापा बिजली समेत खाद्य पदार्थ आदि के बढ़े भावों से परेशान है। सरकार को रसोई गैस सिलेंडर के दाम कम करने चाहिए।

कलावती महावर, (छात्रा) - रावण की डूंगरी, टोंक।

खबरें और भी हैं...