समस्या / मालपुरा में अटके झारखंड के 50 मजदूर, नहीं मिल रही ऑनलाइन वाहन सुविधा

50 workers of Jharkhand stuck in Malpura, no online vehicle facility
X
50 workers of Jharkhand stuck in Malpura, no online vehicle facility

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

टोंक. मालपुरा में अटके झारखंड के 50 मजदूर घरवालों से मिलने के लिए आंसू बहा रहे हैं। हालत यह है कि दो अलग-अलग निजी मकानों में क्वॉरेंटाइन यह 50 मजदूर उपखंड कार्यालय से मिलने वाले खाद्य सामान के भरोसे अपना जीवन यापन कर रहे हैं । लंबे समय से निजी मकानों में क्वॉरेंटाइन इन मजदूरों की मानसिक स्थिति की जांच पड़ताल करने के लिए सहादत अस्पताल टोंक के मनोरोग चिकित्सक डॉ सीपी बेरवा व उनके सहयोगी महेंद्र कुमार नामा ने शुक्रवार को मालपुरा पहुंचकर दोनों जगह रह रहे 50 मजदूरों की काउंसलिंग की तथा उनके हालचाल पूछे । मनोरोग चिकित्सक ने मजदूरों को जल्दी ही झारखंड के लिए किए गए आवेदन के आधार पर वाहन मिलने का ढांढस बंधाया। मजदूर भोला टू डू ने बताया कि सभी मजदूर एक ठेकेदार के माध्यम से मालपुरा में सड़क कार्य करने के लिए आए थे। अचानक लॉकडाउन लागू होने से सभी मजदूर मालपुरा में फंस गए। पहले उन्होंने अपने स्तर पर ही झारखंड की तरफ रवानगी लेने का प्रयास किया लेकिन सरकार की ओर से बरती जा रही सख्ती को देखते हुए वह मालपुरा की ही एक मकान दूदू रोड पर व एक मकान अजमेर रोड पर लेकर रहने लगे । 
बाहर के मजदूर मालपुरा में होने की जानकारी मिलने पर प्रशासनिक अधिकारियों व चिकित्सा दल ने प्रारंभिक जांच करने के बाद इन्हें निजी मकानों में आइसोलेट कर दिया । 
तब से यह झारखंड के मजदूर निजी मकानों में रह रहे हैं । मजदूरों का कहना है कि सरकार को आनलाइन फार्म भर दिए लेकिन झारखंड जाने के लिए अभी तक रोजाना 2 दिन में नंबर आने की बात कहकर टाला जा रहा है। इससे सभी मजदूर यहां परेशानी से जूझ रहे हैं। 
खास बात यह है कि आसपास रहने वाले मोहल्ले के लोग इन मजदूरों का लगातार ध्यान रख रहे हैं। लेकिन इनके लिए झारखंड जाने के लिए वाहन की सुविधा कब होगी इसको लेकर असमंजस बना हुआ है।मजदूरों का कहना है कि अधिकारी हर बार 2 दिन में व्यवस्था कर दी जाएगी कह कर चले जाते हैं और लम्बा टाइम गुजर गया लेकिन अभी तक इनको झारखंड नहीं पहुंचाया जा सका।
ट्रेन से जल्द भेजेंगे
^मालपुरा में फंसे झारखंड के 50 मजदूरों को भेजने के मामले में बताया कि दो-तीन दिन में मजदूरों को झारखंड भेजने की व्यवस्था कर दी जाएगी । इसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है, बीच में ट्रेन बंद होने कारण इनका झारखंड जाना अटक गया। डॉ. मीणा ने बताया कि मालपुरा उपखंड में अन्य राज्यों में जाने वाले कुल 142 लोग है, सबका ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है। मोबाइल नंबर वगैरह सब पंजीकृत हो चुके हैं । ट्रेन दो-तीन दिन में जयपुर से रवाना होगी तब इन्हें भेज दिया जाएगा। 
-डॉ. राकेश मीणा, एसडीएम

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना