पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Tonk
  • Angry Youths Beat Up The Shifting In charge And Supervisor Over The Deduction Of Toll Fee From FASTag, Broke The Camera, Toll Workers Ran Away After Saving Their Lives.

जयपुर-कोटा राजमार्ग पर दहशत के 7 मिनट:फास्टैग से टोल शुल्क कटने से नाराज युवकों ने शिफ्टिंग इंचार्ज व सुपरवाइजर काे पीटा, कैमरा तोड़ा, टोलकर्मी जान बचाकर भागे

टोंकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टोंक। घायल शिफ्टिंग इंचार्ज विजय बागुल। चोट दिखता घायल कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
टोंक। घायल शिफ्टिंग इंचार्ज विजय बागुल। चोट दिखता घायल कर्मचारी।
  • इस बीच टोल फ्री रहा, करीब 15 से 20 वाहन बिना टोल दिए गुजरे
  • शिफ्टिंग इंचार्ज ने रिपोर्ट में बताया, गिरने के बावजूद लाठियों से पीटा

जयपुर कोटा राजमार्ग स्थित सोनवा टोल प्लाजा पर फास्टैग से राशि कटने से गुस्साए युवकों ने मंगलवार देर रात लाठियों, स्टिकों से हमला कर शिफ्टिंग इंचार्ज समेत सुपरवाइजर को घायल कर दिया। करीब 10 मिनिट तक युवकों ने टोल पर लाठियां लहराकर उत्पात मचाया। भयभीत हुए टोलकर्मी जान बचाकर इधर से उधर भाग छूटे। उत्पाती युवकों ने बेरियर भी उठा दिया। इस बीच करीब 15 से 20 वाहन बिना टोल चुकाए ही प्लाजा से निकल गए। हमलावरों के मौके से रवाना होने के बाद ही टोलकर्मी साहस जुटाकर टोल पर आए।

इस बीच कर्मचारियों के अभाव में 50 से अधिक वाहन बिना टोल चुकाए ही निकल गए। सूचना पर मेहंदवास थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची। जहां ऑपरेटर की ओर से मामला दर्ज कर उत्पाती युवकों की तलाश शुरू की।मेहंदवास थाना प्रभारी शिवजीलाल गुर्जर ने बताया कि घटना मंगलवार रात करीब 8 बजे की है। सूचना के बाद कम्पनी डीजीएम राजेश कदम भी टोल पहुंचे तथा घटना की जानकारी ली।

उस्मानपुरा निवासी ऑपरेटर यादराम गुर्जर ने मामला दर्ज कराया कि मंगलवार रात देवली की ओर से एक ओडी टोल पर आकर रुकी। फास्टैग लगा होने से टोल शुल्क 85 रुपए स्वत कट गया। इस पर कार चालक नाराज होते हुए टोलकर्मियों से अभद्रता करने लगा। कहासुनी के बाद उसने फोन कर अपने भाई व साथियों को बुलवा लिया। बोलेरो में सवार होकर पहुंचे 10 से 12 युवकों ने आते ही शिफ्टिंग इंचार्ज मुम्बई महाराष्ट्र निवासी विजय बागुल व सुपरवाइजर सोहेला निवासी मुकेश बैरवा को पहचानते हुए लाठियों से हमला कर घायल कर दिया। मेहंदवास थाना प्रभारी शिवजीलाल गुर्जर के मुताबिक नामजद आरोपी जूनिया निवासी मोनू गुर्जर, उसके भाई दीपू गुर्जर समेत अन्य सभी 10-12 युवकों की तलाशजारी है।

हमलावरों की तलाश मेंजुटे रहे थाना इंचार्ज बुधवार को एसपी ओमप्रकाश की ओर से क्राइम मीटिंग आयोजित की गई थी। हालांकि मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए एसपी ने थाना प्रभारी को क्राइम मीटिंग में आने के स्थान पर हमलावरों की धरपकड़ करने के निर्देश दिए। दूसरी ओर पुलिसकर्मियों ने बुधवार को आरोपियों की तलाश में कई स्थानों पर दबिश दी, लेकिन आरोपी गिरफ्त से दूर रहे।

सीसीटीवी में दर्ज हंगामा, फुटेज पुलिस अफसरों को भेजी सीसीटीवी देखने पर पता चलता है कि मारपीट का सर्वाधिक कहर शिफ्टिंग इंचार्ज विजय बागुल पर बरपा। हालांकि करीब 7 मिनट तक बदमाश युवकों के लाठियां लहराते हुए इधर से उधर भागने से टोल परिसर में दहशत का माहौल रहा। हमलावरों की ओर से प्लाजा पर लगे सभी छह लाइनों के बेरियर उठा दिए जाने से करीब 7 मिनट टोल फ्री रहा। इससे 15 से 20 वाहन बिना टोल राशि चुकाए ही निकल गए। युवकों ने टोल पर लगा कैमरा भी तोड़ दिया, जिसकी लागत रिपोर्ट में 85 हजार बताई गई है। टोलकर्मियों ने परिसर में लगे सभी सीसीटीवी की फुटेज डीएसपी चन्द्रसिंह रावत समेत पुलिस अधिकारियों भेजी है।

खबरें और भी हैं...