पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Tonk
  • Bisalpur Jaipur Drinking Water Project Employees Union Officials Demonstrated In The Collectorate And Submitted A Memorandum To The Collector

बीसलपुर -जयपुर पेयजल परियोजना कर्मियों ने दी चेतावनी:संघ के पदाधिकारियों ने कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन कर कलेक्टर को दिया ज्ञापन, बोले 7 दिन में मांग नहीं मानी तो सामूहिक अवकाश पर जाएंगे

टोंकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बिसलपुर जयपुर पेयजल परियोजना के पदाधिकारी कलेक्टर को ज्ञापन देने जाते हुए। - Dainik Bhaskar
बिसलपुर जयपुर पेयजल परियोजना के पदाधिकारी कलेक्टर को ज्ञापन देने जाते हुए।

बीसलपुर-जयपुर पेयजल परियोजना कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने शुक्रवार को कलेक्टर को ज्ञापन देकर कंपनी द्वारा हाईकोर्ट के आदेश की पालना नहीं करने की शिकायत की है। साथ ही चेतावनी दी कि संबंधित विभाग और फर्म उनकी मांगों को लगातार अनसुना कर उनका मानसिक शोषण कर रहे हैं। यदि सात दिन में मांगें नहीं मानी गईं तो वे सामूहिक अवकाश और कार्य बहिष्कार सहित धरना-प्रदर्शन करने पर मजबूर होंगे। यहां तक कि पेयजल सप्लाई भी ठप कर देंगे।

बीसलपुर-जयपुर पेयजल परियोजना कर्मचारी संघ के अध्यक्ष खेमराज माली ने बताया कि वे इस परियोजना में जीसीके सी कंपनी के अधीन काम कर रहे हैं। कंपनी की ओर से वेतन भत्ते नहीं जा रहे हैं और ना उपस्थिति रजिस्टर में उपस्थिति की जा रही है।

इसके अलावा 24 अप्रैल से से 31 मई तक का मासिक वेतन भी नहीं किया गया है। कार्यकारी कंपनी मजदूरों के हितों पर कुठाराघात कर रही है। मजदूरों का आर्थिक, मानसिक और शारीरिक शोषण कर रही है। कंपनी की कार्यशैली के विरोध में बीसलपुर सूरजपुरा पम्प हाउस जलशोधन संयंत्र, डेनवाल, डिग्गी तक काम करने वाले सभी 130 कर्मचाारी की ओर सेे हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी। याचिका पर कोर्ट ने इसी साल 22 अप्रैल को कर्मचारियों के पक्ष में फैसला सुनाया था।

इसमें कम्पनी को आदेश देकर कर्मचारियों की मांगे पूरी करने को कहा था, लेकिन इसके बाद भी संबंधित कंपनी हाईकोर्ट के आदेश की अवहेलना कर रही है। इस मामले में पीएचईडी के जिला और प्रदेश स्तरीय अधिकारियों के अवगत करवाने के बावजूद सुनवाई नहीं हो रही है। इसलिए कर्मचारी आहत है। इसलिए बीसलपुर जलप्रदाय परियोजना कर्मचारी संघ की ओर से कलेक्टर को ज्ञापन दिया है। 7 दिन में कर्मचारियों की मांगे पूरी नहीं होती है तो आंदोलन किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...