पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आक्रोश - सीएम का पुतला फूंका:भाजयुमो ने सरकार के खिलाफ पैदल मार्च निकाला, सीएम का पुतला फूंका

टोंक17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
टोंक | झालरापाटन में कृष्णा वाल्मीकि की हत्या के विरोध में पैदल मार्च निकाल के भाजयुमो कार्यकर्ता। - Dainik Bhaskar
टोंक | झालरापाटन में कृष्णा वाल्मीकि की हत्या के विरोध में पैदल मार्च निकाल के भाजयुमो कार्यकर्ता।
  • कलेक्ट्रेट परिसर में कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया

झालरापाटन में कृष्णा वाल्मीकि की हत्या और जयपुर में भाजयुमो प्रदेश कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज के विरोध में बुधवार को भाजयुमो कार्यकर्ताओं राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री का पुतला फूंका। वही राज्य सरकार की नीतियों को दमनकारी बताते हुए राज्यपाल के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर पीड़ित परिवार को एक करोड़ का आर्थिक मुआवजा और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दिलाए जाने के लिए राज्य सरकार को निर्देशित करने की मांग की हैं।

भाजपा प्रदेश मंत्री और जिला प्रभारी अशोक सैनी भादरा, जिलाध्यक्ष पराणा, पूर्व विधायक अजीतसिंह मेहता आदि पदाधिकारियों की मौजूदगी में भाजयुमो जिलाध्यक्ष नरेंद्र शर्मा के साथ युवा कार्यकर्ता डाक बंगले में एकत्रित हुए और वहां से पैदल मार्च कर राजस्थान सरकार को दमनकारी सरकार बताते हुए नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे। जहां पहले तो पुलिस अधिकारियों ने उन्हें कलेक्ट्रेट गेट पर ही रोक दिया।

बाद में पदाधिकारियों के समझाने के बाद पुलिस अधिकारियों की अनुमति से सभी कलेक्ट्रेट परिसर में पहुंच गए। इसके बाद भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट परिसर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का पुतला फूंककर आक्रोश जताया। वही आरोपियों को सजाए मौत दिलाए जाने पीड़ित परिवार को आर्थिक मुआवजा व एक परिजन को सरकारी नौकरी दिए जाने की मांग करते हुए राज्यपाल के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। पूर्व जिलाध्यक्ष गणेश माहुर, भाजयुमो प्रदेश महामंत्री चंद्रवीरसिंह चौहान, जिलामहामंत्री रमाकांत शर्मा, विजय मालवानी, जगदीश गुर्जर, खेमराज मीणा, दीपक संगत, रामचंद्र गुर्जर, मदनलाल रैगर, राधेश्याम चांवला, रामअवतार मेहरा, कमलकुमार, अंकित साहू, राहुल, परिक्षित साहू सहित सैंकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।

दलित विरोधी सरकारकलेक्ट्रेट में युवा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भाजपा जिलाध्यक्ष राजेंद्र पराणा, पूर्व विधायक अजीतसिंह मेहता और भाजयुमो जिलाध्यक्ष नरेंद्र शर्मा आदि ने आरोप लगाया कि झालावाड़ के झालरापाटन में कृष्णा वाल्मीकि के साथ बेरहमी से मारपीट कर हत्या के बाद उसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डालना, प्रदेश में असामाजिक तत्वों व अपराधियों के बढ़ते हौंसला को दर्शाता हैं। उन्होंने कांग्रेस सरकार को दलित विरोधी बताते हुए पिछड़े वर्ग की उपेक्षा का आरोप लगाया।

खबरें और भी हैं...