पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पर्युषण पर्व:पुष्पदंत भगवान का मोक्ष कल्याणक पर्व मनाया, चढ़ाया लड‌‌्डू, उत्तम सत्य धर्म की पूजा की, बालिकाओं ने दी प्रस्तुति

टोंक7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
टोंक| श्री दिगंबर जैन नसिया टोंक में तहत पुष्पदंत भगवान का मोक्ष कल्याणक पर्व पर लड्डू चढ़ाते श्रद्धालु। - Dainik Bhaskar
टोंक| श्री दिगंबर जैन नसिया टोंक में तहत पुष्पदंत भगवान का मोक्ष कल्याणक पर्व पर लड्डू चढ़ाते श्रद्धालु।
  • शाम को आरती, प्रश्न मंच, सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं में पहुंचे कई श्रावक

श्री दिगंबर जैन समाज के चल रहे पर्यूषण महापर्व के पांचवे दिन श्रद्धालुओं ने अभिषेक, शांतिधारा के बाद नित्य नियम पूजा की। इसके बाद दश लक्षण महामंडल विधान की पूजा करके अर्घ्य समर्पित किए। देवाधिदेव पुष्पदंत भगवान का मोक्ष कल्याणक पर श्रावकों ने पुष्पदंत भगवान की पूजा अर्चना कर निर्वाण कांड बोलकर निर्वाण लडडू चढ़ाया। समाज के प्रवक्ता पवन कंटान व कमल सर्राफ ने बताया कि इससे पहले रात को आरती, प्रश्न मंच के बाद जैन धर्म पर क्रिकेट प्रतियोगिता हुई। सीमा जैन बिलासपुरिया ने सर्वाधिक प्रश्नों का उत्तर देकर सर्वाधिक 53 रन बनाकर मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया। नारियल सजाओ प्रतियोगिता” में प्रथम स्थान पर कुसुमलता पासरोटिया, द्वितीय स्थान पर प्रमिला पांसरोटिया, प्रियंका आड़रा, तृतीय स्थान पर माया रोहतक, रिंकी फुलेता, नीतू पासरोटिया, ममता पासरोटिया विजेता रही।

इस मौके पर श्यामलाल फुलेता, विमल बरवास, इंद्र महरू, प्रकाश सेठी, निहाल चंद, अंकुर पाटनी, ओम ककोड, धर्मेंद्र जैन, सुरेंद्र अजमेरा, महिला मंडल की साक्षी, सोनिया बोरदा, बरखा, ज्योति, नीतू, रेणु सर्राफ, आदि महिला पुरुष मौजूद रहे। इसी प्रकार मेहंदवास स्थित चन्द्रपुरी जैन मंदिर में भी उत्तम सत्य धर्म की पूजा की गई। शहर के काफला क्षेत्र स्थित जैन चैत्यालय में दिन श्रद्धालुओं ने जयकारों के बीच निर्वाण लडडू चढ़ाया। इंद्रमल जैन कलई वाले ने बताया कि पंडित राजीव कुमार शास्त्री की मौजूदगी में दशलक्षण विधान का आयोजन हुआ। इस मौके पर अंकित कासलीवाल, पारस जैन, महेन्द्र, रमेश, कुशाल आदि मौजूद रहे।इन्द्र इंद्राणियों ने तीनलोक मंडल विधान के पात्रों का चयन करके 35 पूजा कीनिवाई| गांव हरभगतपुरा में श्री चन्द्रप्रभु दिगंबर जैन मंदिर में आयोजित दस दिवसीय पर्युषण पर्व मे दशलक्षण धर्म के तहत मंगलवार को पात्रों का चयन करके तीन लोक मण्डल विधान की महाआराधना की।

जैन समाज के प्रवक्ता विमल जौंला ने बताया कि सोमवार को तीन लोक मण्डल विधान की शुरूआत महेंद्र जैन बोंली एवं मूलचन्द पांडया ने दीप प्रज्वलित कर किया। भगवान सुपाश्र्वनाथजी की तस्वीर का लोकार्पण राजेश पांडया एवं अक्षय पांडया ने किया। जौंला ने बताया कि तीन लोक मण्डल विधान मे सोधर्म इन्द्र मूलचंद जैन एवं इन्द्राणी लाड देवी जैन सहित सभी इन्द्र इंद्राणियों ने मण्डप पर ध्वजा स्थापित कर अध्र्य समर्पित किए।

विधान में चौथे दिन सभी पूजार्थियों ने नवदेवता पूजा, भगवान पदमप्रभु पूजा, चंद्रप्रभु पूजा के साथ तीन लोक मण्डल विधान में 35 पूजा की गई, जिसमें लाडदेवी जैन, रेशु जैन, सिम्पी जैन, अनीता जैन, संजू जौंला, टीना जैन एवं गायत्री जैन सहित कई श्रद्धालुओं ने भक्ति नृत्य किए। विमल जौंला ने बताया कि विधान मे संगीत के साथ मंगलवार को पर्युषण पर्व के अन्तर्गत उत्तम सत्य धर्म की विशेष पूजा अर्चना की गई। जौंला ने बताया कि इसी प्रकार निवाई शहर में भी पर्युषण पर्व के तहत दशलक्षण धर्म की विशेष आराधना की गई जिसमें सभी जैन मंदिरों में पांचवें दिन उत्तम सत्य धर्म की विशेष पूजा अर्चना की गई। कार्यक्रम के दौरान सांयकाल प्रतिदिन श्री जी की आरती एवं भजन संगीत किया जा रहा है।उत्तम सत्य धर्म को बीज धर्म के समान मानाटोडारायसिंह| जिनालयों में उत्तम सत्य धर्म की पूजा कर जैन धर्मावलंबियों ने धूमधाम से मनाया।

सायंकालीन संगीतमय भक्तांबर पाठ के पुण्यार्जक बिरधी चन्द, भागचंद, संजीव, मनीष कासलीवाल परिवार रहे। इस अवसर पर पंडित संजीव कासलीवाल ने उत्तम सत्य धर्म की व्याख्यान करते हुए बताया कि उत्तम सत्य धर्म को बीज धर्म के समान माना गया है। इस अवसर पर जैन समाज अध्यक्ष संतकुमार जैन, पदम चंद जैन, प्रवक्ता मुकुल जैन, विनोद जैन सहित महिलाओं ने उत्तम सत्य धर्म की पूजा में बढ़ चढ़ कर भाग लिया। इसी प्रकार पदम प्रभु जिनालय में दस लक्षण विधान की पूजा की गई। पं. रितेश कुमार शास्त्री सुबह अभिषेक, शांतिधारा, नित्य पूजा व विधान की पूजा सम्पन्न करवाई। कार्यक्रम में पूर्व पार्षद मुकेश जैन, मदनलाल जैन, नरेश झण्डा, राकेश बडतला, सुशील कनोई, हंसराज झण्डा, कमल कनोई, दिनेश कनोई आदि ने भाग लिया। बनेठा| उपतहसील मुख्यालय पर स्थित महावीर दिगंबर जैन मंदिर में दसलक्षण पर्व के दौरान उत्तम सत्य धर्म की पूजा अर्चना की गई। श्रीजी की प्रतिमा पर अभिषेक एवं बड़ी शांतिधारा की गई। जैन समाज के लोगों ने मंदिर परिसर में पूजा अर्चना की। महावीर जैन मंदिर में शांतिधारा करने का सौभाग्य रमेश चन्द, राजेश कुमार को मिला।

इसके साथ ही जैन श्रद्धालुओं ने जैन मंदिर परिसर में पुष्पदंत भगवान को लड्डू चढ़ाया गया। शाम को भक्ति संगीत के अलावा महाआरती एवं धार्मिक प्रतियोगिताएं आयोजित की गई।उनियारा| जैन चैत्यालय मंदिर, दिगंबर जैन बड़ा मंदिर सहित ग्रामीण क्षेत्र के जैन मंदिर में दशलक्षण पर्व के पंचम दिन उत्तम सत्य धर्म की पूजा की गई और विधान के अर्घ चढ़ाए गए। दिगंबर जैन अग्रवाल समाज के प्रवक्ता विनय कुमार जैन सर्राफ़ ने बताया कि दशलक्षण पर्व पर सत्य धर्म के पालन करने से ही मोक्ष का मार्ग संभव है। जिस तरह मुनिराज सत्य का पालन करते हैं, उसी प्रकार श्रावक जनों को भी सत्य का ही पालन करना चाहिए‌।

इसी के अंतर्गत सुबह की बेला में सबसे पहले जैन चैत्यालय मंदिर एवं दिगंबर जैन बड़े मंदिर में भगवान का अभिषेक और नित्य शांति धारा की गई। इसके उपरांत पुष्पदंत भगवान के निर्वाण महोत्सव पर निर्वाण लाडू चढ़ाया गया एवं शांति धारा और निर्वाण लाडू चढ़ाने का पुण्यार्जन कजोड़ मल, धर्मचंद पवन,विनय, आशीष जैन ने प्राप्त किया। इस अवसर पर चंद्रप्रकाश खुटवाले, कजोड़ मल, महावीर प्रसाद मेहंदी वाले, बाबूलाल मेहंदी वाले, मुरलीधर मित्तल, कजोड़ मल, हुकुमचंद एवं जैन बड़ा मंदिर में सुभाष पाटोदी, राजेंद्र पाटोदी, दिनेश, मनोज, रचित सहित कई लोग मौजूद थे।देवली| दश लक्षण महापर्व के पंचम दिवस अष्टमी के दिन देवली के पटेल नगर स्थित पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर में जैन धर्मानुरागियों ने उत्तम सत्य धर्म की पूजा -अर्चना की तथा अपनी चंचला लक्ष्मी का सदुपयोग करते हुए मूलनायक पार्श्वनाथ, विधिनायक पार्श्वनाथ एवं आदिनाथ भगवान की मूर्तियों का जलाभिषेक एवं शांतिधारा कर पुण्यार्जन किया। यह जानकारी समाज के प्रचार प्रसार मंत्री राजीव जैन ने दी।

खबरें और भी हैं...