मौसम:दिन का तापमान 17 डिग्री, रात का 5 डिग्री पर, 2011 के बाद 16 जन. को सबसे सर्द रात-दिन

टोंक5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुंसी | यह रुई का पेड़ नहीं बल्कि झाड़ी पर जमी बर्फ की परत है। गांव  मजूकड़ा के तन में रविवार सुबह कैर की झाड़ी पर जमी बर्फ। - Dainik Bhaskar
गुंसी | यह रुई का पेड़ नहीं बल्कि झाड़ी पर जमी बर्फ की परत है। गांव मजूकड़ा के तन में रविवार सुबह कैर की झाड़ी पर जमी बर्फ।
  • खुले में ओस की बूंदें जम गई, सुबह 10 बजे तक कोहरा, विजिबिलिटी 150 मीटर

जिले में लगातार आठवें दिन भी न्यूनतम तापमान 7 डिग्री के नीचे एवं अधिकतम तापमान 20 डिग्री के नीचे रहा। पिछले करीब 11 साल में 16 जनवरी को दिन व रात का तापमान सबसे कम रहा है। हालांकि अधिकांश देखा गया है कि इन दिनों में अधिकतम तापमान 20 से अधिक एवं न्यूनतम भी 10 के आसपास रहता आया है, लेकिन इस बार लगातार न्यूनतम एवं अधिकतम तापमान में गिरावट रही है। रविवार को जिले में अधिकतम तापमान 17 एवं न्यूनतम तापमान औसतन 5 डिग्री रहा है।

कई जगह तापमान पांच से भी नीचे तक गया। रविवार को दिनभर सूरज के दर्शन नहीं हुए। वीकेंड कर्फ्यू के कारण रविवार को अधिकांश लोग घरों पर दुबके रहे। आसमान में सुबह 10 बजे तक कोहरे की स्थिति ये थी की 150 मीटर दूर तक नजर नहीं आ रहा था। हाइवे सहित कई मार्गों पर दिन में ही वाहनों की लाइटें जली नजर आई। उसके बाद कोहरा तो कुछ कम होता नजर आया, लेकिन दिनभर सूरज के दर्शन नहीं हुए। मौसम के पूर्व अनुमान के अनुसार आगामी दिनों में सर्दी में कुछ मामूली कमी आ सकती है, लेकिन शनिवार के मुकाबले रविवार काे दिन व रात के तापमान में एक-एक डिग्री की गिरावट रही।

हवा की शुद्धता भी हुई कमजोर
जिले में जहां माैसम निरंतर सर्द बना हुआ है, वहीं आसमान में नजर आती धुंध भी प्रदूषित स्थिति का आभास कराने लगी है। जिले में पार्टिकुलेटर मैटर पीएम 2.5 जो हवा के अंदर मौजूद सूक्ष्म कणों का मापक है। वो रविवार को कमजोर स्थिति में रहा। पीएम 2.5 121 से अधिक रहा। जो स्थिति बेहद कमजोर की और इशारा कर रही है। उल्लेखनीय है कि पीएम 2.5 90 तक संतोषजनक मानी जाती है। उसके बाद अस्वस्थकर स्थिति की ओर बढ़ने लगती है। हालांकि एयर क्वालिटी की बाकी स्थिति ठीक है।

खबरें और भी हैं...