दो थानाप्रभारी लाइन हाजिर:दूनी व दतवास थानाधिकारी व स्टाफ ने की थी लोगों से अभ्रदता, दतवास पुलिस का वीडियो एसपी को भेजा, दोनों को थाने से हटाया

टोंक2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दतवास पुलिस  धक्का मुक्की करते हुए। - Dainik Bhaskar
दतवास पुलिस धक्का मुक्की करते हुए।

एसपी भले ही पूरी छानबीन के बाद थानेदारों फील्ड पोस्टिंग देते है, लेकिन ये ही थानेदार वर्दी का सामान्य लोगों पर जुल्म ढहा रहे हैं। पिछले 3 दिन में 2 थाने दूनी और दतवास के थानेदार और उनकी टीम की ओर से लोगों से अभद्र व्यवहार करने का मामला सामने आया है। दतवास पुलिस का तो सरेआम एक व्यक्ति से अभद्र व्यवहार करने का वीडियो भी सामने आया है। इसके चलते एसपी ओमप्रकाश ने डैमेज कंट्रोल करते हुए तुरंत प्रभाव से दतवास व दूनी थाना प्रभारी को लाइन हाजिर कर दिया।

जानकारी के अनुसार मंगलवार शाम को बामनवास (बनवा बामनवास) निवासी मुल्कराज गुर्जर कार से गांव जा रहा था। इस दौरान दतवास पुलिस ने उसकी कार हाइवे पर रुकवा ली और बिना कुछ जांच पड़ताल किए ही पुलिस वालों ने उससे कहा कि कार को थाने लेकर चल। इस पर मुल्कराज ने पुलिस वालों से इतना सा कहा कि साहब मेरा कसूर क्या है? यह कहते ही पुलिस वालों ने उसे खींचते हुए जबरन जीप में बिठाने लगे। इस बीच उसकी शर्ट भी फाड़ दी। इस दौरान उसने कहा कि मेरे पास करीब पौने पांच लाख रुपए है। उसका बैंक स्टेटमेंट की पर्ची भी दिखाई और कहा कि ये रुपए जमीन के सौदे के लिए निकलवाई थी, लेकिन जमीन का सौदा कैंसिल हो गया। इसके चलते इस राशि को वापस लेकर जा रहा हूं। रुपए देखते ही पुलिस वाले और गुस्से में हो गए और जबरन मुल्कराज को खींचते हुए जीप के पास ले गए और उसे धक्के देते हुए जीप में बैठाकर ले गए। इससे पहले पुलिस की इस दबंगाई का वीडियो किसी व्यक्ति ने बना लिया और उसने इंटरनेट पर अपलोड कर दिया। यह वीडियो एसपी तक पहुंचा तो उन्होंने तत्काल प्रभाव से बुधवार को थाना प्रभारी अरविंद कुमार लक्षकार लाइन हाजिर कर दिया। इससे पहले भी दतवास थाना प्रभारी और वहां की पुलिस टीम लोगों से विवादों को लेकर चर्चा में रही है। इसी के चलते एक ही साल में तीन थानेदार बदल चुके है।

दूनी थानेदार ने भी की अभद्रता

तत्कालीन दूनी थाना प्रभारी नाहर सिंह की भी कई दिनों से आमजन के साथ छोटी-छोटी बातों को लेकर आमजन से अभद्रता करने की शिकायत उच्च अधिकारियों तक जा रही थी। करीब 20 दिन पहले खवासपुरा पंचायत के रामराज मीणा के साथ भी थाने में बुलाकर मारपीट कर दी। इससे उसका हाथ टूट गया था। जबकि उसके खिलाफ सीधे तौर कोई भी मामला दर्ज है। रामराज के भाई के खिलाफ उसके ससुराल पक्ष के लोगों ने पत्नी से मारपीट की शिकायत की थी। रामराज का भाई और भाई की पत्नी जयपुर में रहते है। इसके चलते पुलिस ने रामराज को बातचीत करने की कहकर उसे थाने में बुलाया था। जहां उसके साथ थाना परिसर में सब लोगों के सामने गाली देते हुए स्वयं तत्कालीन थानेदार नाहर सिंह मीना ने डंडों से पिटाई कर दी। इससे उसका हाथ टूट गया। इसकी उसके पास मेडिकल रिपोर्ट भी है। तीन दिन पहले तो थानेदार ने हद ही कर दी।

सूत्रों के अनुसार किसी मामले को लेकर पक्ष के किसी बड़े पदाधिकारी का फोन नाहर सिंह के पास आया था। बातचीत में नाहर सिंह ने भी उनसे अभद्र व्यवहार किया। उसने इसकी रिकॉर्डिंग पुलिस के बड़े अधिकारी को दी। उसके बाद पुलिस अधिकारी भी नाहर सिंह के इस बर्ताव को देखकर दंग रह गए। उसके बाद तत्काल नाहर सिंह मीना को भी एसपी ने लाइन हाजिर कर दिया। हालांकि दोनों को सस्पेंड करने के वास्तविक कारण पुलिस अधिकारी सार्वजनिक नहीं कर रहे है। वैसे प्रशासनिक कारण बता रहे है।

खबरें और भी हैं...