बालाजी मंदिर से दानपात्र ले गए अज्ञात चोर:लोहे की रेलिंग से वेल्डिंग करा रखी थी दान पेटी, किसानों को खेतों में ताला टूटी मिली

टोंकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चोरी के बाद मौका मुआयना करती पुलिस - Dainik Bhaskar
चोरी के बाद मौका मुआयना करती पुलिस

टोंक जिले के पचेवर कस्बे में बीती रात अज्ञात चोरों ने बालाजी मंदिर से दानपात्र चुरा लिया। मंगलवार सुबह श्रद्धालुओं के मंदिर जाने पर घटना का चला। श्रद्धालुओं ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंची और जायजा लिया। पड़ताल करने पर कस्बे से करीब एक किमी दूर दानपात्र पड़ा मिला, लेकिन उसका ताला टूटा हुआ था।

थानाधिकारी नरेंद्र सिंह ने बताया कि कस्बे में बालाजी मंदिर में दानपात्र लगा था। चोरों के डर से दानपात्र की रेलिंग से वेल्डिंग कर रखी थी। मंदिर में हजारों रुपए का चढ़ावा आता है। बीती रात अज्ञात चोर सरिया या अन्य किसी हथियार से तोड़कर पूरी दानपेटी चुराकर ले गए। श्रद्धालुओं के मंदिर में भगवान के दर्शन करने जाने पर इसका पता चला। लोगों की सूचना पर हेड कॉन्स्टेबल प्रेमचंद मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल की।

उन्होंने बताया कि पचेवर कस्बे से करीब 1 किलोमीटर दूर महादेव मस्त धाम के पीछे खेतों में बालाजी मंदिर से चुराई गई दान पेटी मिली। किसानों ने इसकी सूचना गांव वालों को दी तो कई लोग मौके पर पहुंचे, जहां खाली दान पेटी पड़ी थी। चोर दानपेटी से नकदी निकालकर ले गए। पुलिस ने चोरों की तलाश शुरू कर दी है।

पहले भी हो चुकी है दानपेटी चोरी
लोगों ने बताया कि करीब 6-7 माह पहले भी इस मंदिर से दानपेटी चोरी हो गई थी। इसके कारण दानपेटी को लोहे की रेलिंग से वेल्डिंग करा कर रखा था, लेकिन चोर बीती रात को इसे भी तोड़कर ले गए।

खबरें और भी हैं...