अतिक्रमण हटाया:उखलाना पंचायत मुख्यालय पर 8 बीघा जमीन से हटाया अतिक्रमण, राजस्व विभाग ने पुलिस जाब्ता के साथ कार्रवाई को दिया अंजाम

टोंक8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अलीगढ़|उखलाना पुलिस प्रशासन एवं राजस्व अधिकारियों की मौजूदगी में अतिक्रमण हटाती जेसीबी। - Dainik Bhaskar
अलीगढ़|उखलाना पुलिस प्रशासन एवं राजस्व अधिकारियों की मौजूदगी में अतिक्रमण हटाती जेसीबी।
  • सरपंच के सहयोग से अब तक करोड़ों की जमीन से हटाए जा चुके कब्जे

अलीगढ़ उखलाना ग्राम पंचायत ने श्मशान घाट सहित सरकारी कार्यालयों पर लगभग 8 बीघा जमीन से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की। इस दौरान राजस्व अधिकारियों व पुलिस को काफी मशक्कत भी करनी पड़ी।तीन जेसीबी की मदद से दिनभर में सरकारी कार्यालय व श्मशान घाट की भूमि को अतिक्रमण मुक्त करवा दिया। गत दिनों सरकारी भूमि से अतिक्रमण हटाने की मांग काे लेकर उखलाना गांव की महिलाओं ने हाईवे पर प्रदर्शन किया था। जिसके बाद सरपंच सरोज मीणा ने उच्चाधिकारियों से अतिक्रमण हटाने की मांग की थी।

कलेक्टर व उनियारा उपखंड अधिकारी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तहसीलदार के नेतृत्व में टीम गठित की। जिसके बाद तहसीलदार हनुमान प्रसाद मीणा राजस्व कर्मियों की टीम व तीन थानों के पुलिस जाब्ता के साथ 3 जेसीबी लेकर मौके पर पहुंचे। दिनभर कड़ी मशक्कत के बाद लगभग 8 बीघा जमीन से अतिक्रमण हटवाए। इस मौके पर उखलाना हल्का पटवारी जमुना देवी शर्मा, ग्राम विकास अधिकारी शैलेन्द्र सिंह, सुदर्शन मीणा, सोप नायब तहसीलदार रवि मीणा, बनेठा नायब तहसीलदार रामकिशोर मीणा, अलीगढ़ थानाधिकारी गोविंद सिंह, सोप थानाधिकारी सत्यनारायण चौधरी, उनियारा थाना का जाब्ता मौजूद रहा।विरोध का करना पड़ा सामनातहसीलदार हनुमान मीना व पुलिसकर्मियों को अतिक्रमियों के विरोध का सामना भी करना पड़ा। कार्रवाई के चलते मौके पर बड़ी संख्या में लोग एकत्र हो गए। कई बार ग्रामीण पुलिस प्रशासन व राजस्व अधिकारियों से उलझते नजर आए। बार-बार भीड़ हो जाने के कारण पुलिस भीड़ को खदेड़ती नजर आई।

इनका कहना है : मैं अतिक्रमण हटाने के लिए प्रयासरत हूं। अब तक नेशनल हाईवे 116 पर बस स्टैंड के पीछे पड़ी जमीन, उखलाना में श्मशान घाट सहित कई सरकारी भूमि से अतिक्रमण हटवा चुकी हूं। पंचायत की जितनी भी सरकारी जमीन है उस को अतिक्रमण मुक्त करने के लिए उच्चाधिकारियों से हटवाने के लिए प्रयासरत हैं।-सरोज मीणा, सरपंच, ग्राम पंचायत उखलाना।

खबरें और भी हैं...