कोरोना का खौफ:दाह संस्कार करने कोई नहीं आया तो पुलिस ने किया अंतिम संस्कार

टोंक6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डिग्गी| महिला के अंतिम संस्कार को चिता तैयार करते डिग्गी थानाधिकारी व अन्य पुलिसकर्मी। - Dainik Bhaskar
डिग्गी| महिला के अंतिम संस्कार को चिता तैयार करते डिग्गी थानाधिकारी व अन्य पुलिसकर्मी।

डिग्गी थाना क्षेत्र के चपराना गांव की 37 वर्षीय महिला के पति की शादी के कुछ माह बाद ही मौत हो गई थी। उसके बाद से ही यह महिला ससुराल नहीं रह कर चपराना स्थित अपने भाई के पास अकेले ही रह रही थी। उसकी गत दिनों तबीयत खराब हो गई। उसके बाद उसका बड़ा भाई उसे टोंक, जयपुर भी दिखाया। इस बीच उसकी बुधवार अल सुबह मौत हो गई। इसका पता लोगों को लगा तो वे उसके दुख में काम आने के बजाय गांव में यह अफवाह उड़ा दी कि महिला की मौत कोरोना से हुई है। हालांकि उसका कोराेना जांच नहीं हुई थी, लेकिन गांव वालों ने उसे कोरोना संदिग्ध मानकर उसके घर तक नहीं गए। गांवों वालों को घर नहीं आते देख मृतका के भाई ने भी शव को गांव से करीब सौ मीटर दूर स्थित स्कूल में रख दिया।

फिर भी उसका अंतिम संस्कार करने के लिए कोई आगे नहीं आया। इसकी खबर डिग्गी थानाप्रभारी सत्यनारायण चौधरी को लगा तो वे आगे आए। वे कुछ जवानों को साथ लेकर मौके पर गए और उसका अंतिम संस्कार करने के लिए इधर-उधर से लकड़ियों की व्यवस्था की। यही नहीं उन लकड़ियों को कुल्हाड़ी चलाकर शव के अंतिम संस्कार के लिए चिता भी तैयार की। बाद में तीन-चार रिश्तेदार आए। उसके बाद मृतका का भाई रिश्तेदारों व पुलिस की मदद से शव यात्रा को श्मशान तक लाया। जहां उसका अंतिम संस्कार किया।

खबरें और भी हैं...