पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टोंक में सादगी के साथ मनाई ईद:ईदगाह में इस साल भी सामूहिक नमाज नहीं हुई अदा, कोरोना का दिखा असर; लोगों ने घरों में नमाज अदा कर बांटी खुशियां

टोंक5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ईंद के मौके पर एक दूसरे का मुंह मीठा करातीं बच्चियां। - Dainik Bhaskar
ईंद के मौके पर एक दूसरे का मुंह मीठा करातीं बच्चियां।

जिलेभर में ईदुल अज़हा पारंपरिक श्रद्धा के साथ बुधवार को मनाई गई। ईदगाह में ईद की नमाज कोरोना संक्रमण से फैली महामारी के कारण इस बार भी पूर्व की भांति सामूहिक रुप से नहीं हो सकी। कोरोना संक्रमण को देखते हुए लोगों ने घरों में नमाज़ अदा कर ईद मनाई। साथ ही सुबह नमाज़ के बाद कुर्बानी की रस्म अदा की गई।

लोगों ने कोरोना संक्रमण से निजात की दुआएं कीं। इस बार भी कोरोना संक्रमण के कारण ईद सादगी के साथ ही मनाई गई। कोरोना काल से पहले ईद की नमाज़ में हजारों लोग ईदगाह पहुंचते थे तथा वहां पर एक दूसरे को मुबारकबाद दी जाती थी। ईदगाह में वुजू के विशेष इंतजाम किए जाते थे, बच्चे-बुजुर्ग तक भारी संख्या में वहां मौजूद होकर ईद की खुशियों के साथ इबादत करते थे।

चारों तरफ मेले जैसा माहौल नजर आता था। लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण दूसरी बार है कि ईदगाह में ईद की नमाज के बाद हजारों हाथ एक साथ दुआओं के लिए नहीं उठ सके। ये स्थितियां देखकर एवं सुनकर कई बुजुर्गों की आंख से आंसू तक निकल पड़े। लोगों ने कोरोना संक्रमण से निजात की दुआएं भी की। सोशल मीडिया एवं मोबाइल के जरिए लोग एक दूसरे को बधाइयां देकर ईद मुबारक की रस्म अदा करते नजर आए।

पहले की तरह दावतों का दौर भी नजर नहीं आया। साथ ही एक दूसरे के घर जाकर ईद की मुबारक बाद देते लोग बेहद कम ही नजर आए जबकि बाजारों एवं मोहल्लों में ईद की मुबारक बाद गले मिलकर देने के नजारे अपने आप में अलग ही नजर आते थे।

ईद की मुबारक देते बच्चे
ईद की मुबारक देते बच्चे
खबरें और भी हैं...