• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Tonk
  • In Turkia, The Administration Gave A Statement Of Blackmailing CM Gehlot In The Camp With The Villages, And Also Asked To Give A Chance To The Pilot For The CM.

CM, पायलट पर दिए बयानों से MLA बैरवा चर्चा में:तुर्किया में शिविर में CM गहलोत को ब्लैकमेल करने का दिया बयान, पायलट को भी सीएम के लिए मौका देने की कहीं बात

टोंक15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
तुर्किया में लगे प्रशासन गांव के संग अभियान के तहत शिविर में विधायक प्रशांत बैरवा। - Dainik Bhaskar
तुर्किया में लगे प्रशासन गांव के संग अभियान के तहत शिविर में विधायक प्रशांत बैरवा।

सीएम गहलोत की खिलाफत करने के बाद निवाई विधायक प्रशांत बैरवा सार्वजनिक रूप से व मीडिया में सीएम अशोक गहलोत व पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट को लेकर दिए बयानों से चर्चा में आ गए हैं। सीएम गहलोत को जहां विकास को लेकर बजट लेने के लिए ब्लैकमेल करने तक की बात कह डाली। वहीं, सचिन पायलट की ओर से 2 दिन पहले टोंक में सत्ता परिवर्तन को लेकर दिए गए बयानों पर सहमति जताई। बैरवा ने कहा कि सचिन पायलट डायनैमेटिक व्यक्ति है। वे संघर्षशील है, उन्हें मौका मिलना चाहिए।

निवाई विधानसभा क्षेत्र के तुर्किया में बुधवार को प्रशासन गांव के संग अभियान के तहत शिविर लगा था। इसमें मंच से उन्होंने खुले आम बोला कि क्षेत्र के विकास के लिए बजट को लेकर मैं सीएम अशोक गहलोत को भी ब्लैकमेल कर सकता हूं। क्योंकि ये विधायकों की सरकार है। हालांकि फिर मीडिया में चर्चा करते हुए बात को संभाली और कहा कि सीएम गहलोत मेरे पिता समान है। बेटा होने के नाते मेरा पूरा हक है। विकास के लिए उन्हें ब्लैकमेल भी कर सकता हूं। फिर कहा कि में ये मजाक है। में तो कहता रहता हूं। उधर लोगों में चर्चा है कि निवाई एमएलए बैरवा ने भले ही बाद में मीडिया के सामने गहलोत को ब्लैकमेल करने के बयान को मजाक में ये कहने की बात कह कर नए विवाद को खड़ा होने से बचाने कोशिश की है, लेकिन बातों ही बातों में वे सीएम पर राजनैतिक निशाना साध गए है।

पायलट डायनैमेटिक है, सीएम के लिए मौका मिलना चाहिए
विधायक प्रशांत बैरवा ने मीडिया से बातचीत के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट की भी जमकर तारीफ की। बैरवा ने कहा कि सचिन पायलट डायनैमेटिक है। वे बड़े नेता है, संघर्षशील है। उनमें सारी क्षमता हैं। एक सवाल के जवाब में बैरवा ने पायलट का नाम लिए बिना कहा कि दूसरों को भी सीएम बनने का मौका मिलना चाहिए। परिवर्तन प्रकृति का नियम है। लोकतंत्र में जनता जनार्दन है। कोई स्थाई नही है। आज पायलट की लोकप्रियता इतनी है कि उन्हें उत्तर प्रदेश की हठ धर्मिता वाली सरकार ने गिरफ्तार के लिया। जनता इसका चुनाव में जवाब देगी।

दोनों नेता पार्टी से है और पार्टी उनसे है
विधायक बैरवा ने सीएम गहलोत व पायलट के राजनीतिक कद को लेकर कहा कि दोनों नेता पार्टी से बने हैं और आज पार्टी उनसे है। गहलोत के 15-20 साल और राजनीति करने के बयान पर कहा कि उन्होंने यह बात मात्र सीएम बनने के लिए ही नहीं कहीं होगी। उसका कहने का मतलब संगठन की सेवा करना भी हो सकता है। क्योंकि पार्टी ने भी उनको बहुत कुछ दिया है और उन्होंने भी पार्टी को दिया है।

खबरें और भी हैं...