पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Dausa
  • Miners Fled Before The Arrival Of 25 Police Personnel Under The Leadership Of SDM To Stop Illegal Gravel Mining In Sanwa River, Apprehension Leaked Information Of Raid

बजरी खननकर्ताओं का नेटवर्क प्रशासन से भी मजबूत:सांवा नदी में अवैध बजरी खनन रोकने एसडीएम के नेतृत्व में 25 पुलिस कर्मियों के पहुंचने से पहले ही भाग गए खननकर्ता, आशंका- लीक हो गई रेड की सूचना

दौसा23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भांडेडा में अवैध बजरी खनन के खिलाफ कार्रवाई करती पुलिस। - Dainik Bhaskar
भांडेडा में अवैध बजरी खनन के खिलाफ कार्रवाई करती पुलिस।
  • अवैध बजरी से भरे रोजाना 100 से ज्यादा ट्रैक्टर ट्रॉलियों का हरियाणा तक होता है परिवहन

क्षेत्र में बजरी खनन का कारोबार जोरों पर है। रोजाना सांवा नदी से 100 से अधिक बजरी से भरे ट्रैक्टर जा रहे हैं। इसके बावजूद बुधवार सुबह बजरी खनन रोकने के लिए एसडीएम के नेतृत्व में चली 5 घंटे की कार्रवाई में प्रशासन को सिर्फ एक बजरी से भरा ट्रैक्टर मिला। प्रशासन व पुलिस की टीम खनन पर कार्रवाई करने जहां भी पहुंची वहां से खननकर्ता पहले ही फरार हो गए। टीम के लिए सिर्फ फावडा व परात ही छोड़कर गए। ऐसे में क्षेत्र में चर्चा का विषय था कि बजरी खननकर्ताओं का नेटवर्क प्रशासन से भी मजबूत हो गया है।क्षेत्र से गुजर रही सांवा नदी में बजरी खनन का कारोबार अब चरम पर है।

अलग-अलग जगह नदी में लोग धड़ल्ले से बजरी खनन करने में जुटे हुए है। यही नहीं अब तो अधिकांश लोगों ने इसे अपना मुख्य कारोबार भी बना लिया। लगातार खनन की शिकायतों के बाद बुधवार सुबह एसडीएम नीरज मीणा के नेतृत्व में तहसीलदार बसवा ओमप्रकाश गुर्जर, नायब तहसीलदार धर्मेद्र मीणा, थाना प्रभारी राजेंद्र मीणा के साथ करीब 25 से अधिक पुलिसकर्मियों की टीम अवैध खनन रोकने के लिए सुबह 6 बजे निकली।इस दौरान टीम ने समीपवर्ती भांडेडा, बडियाल कलां, ढिगारिया कपूर, ढिगारिया भीम में सांवा नदी में चल रहे बजरी के अवैध खनन को रोकने पहुंची। टीम जिस भी पाइंट पर पहुंची वहां न तो खनन करने वाले मिले न ही जेसीबी व ट्रैक्टर। इतना जरूर टीम को कुछ जगहों पर फावडे व परात ही मिले। करीब 5 घंटे सुबह 11 बजे तक चली इस कार्रवाई में टीम ने भांडेडा में नाके पर खड़े बजरी से भरे एक ट्रैक्टर को जब्त किया। थाना प्रभारी ने बताया कि बजरी के अवैध खनन के खिलाफ प्रशासन की कार्रवाई लगातार जारी रहेगी।

प्रशासन की कार्रवाई की सूचना पहले भी हो चुकी लीक प्रशासन की टीम जिस भी बजरी खनन पाइंट पर पहुंची वहां रोज खनन कार्य जोरों पर होता है। बुधवार को प्रशासन को इन पाइंट पर कोई भी खनन करता नहीं मिला। सूत्रों ने बताया कि प्रशासन की टीम की सूचना पहले से ही खनन कर्ताओं को लग गई थी। ऐसे में वे पहले ही यहां से फरार हो गए।खनन से निकल चुका सांवा नदी का दमबांदीकुई क्षेत्र से गुजर रही सांवा नदी में बजरी का खनन 20 से 25 साल से लगातार जारी है।

खनन के कारण नदी खाई में तब्दील हो चुकी है।मेगा हाइवे से गुजरते है बजरी से भरे ट्रैक्टर ट्रॉलियांसांवा नदी से रोज 100 से अधिक बजरी से भरे ट्रैक्टर ट्राॅलियां अलवर व हरियाणा की ओर जाते है। यही नहीं ये बजरी से भरे ट्रैक्टर ट्रॉलियां मेगा हाइवे होते हुए गुजरते है।

खबरें और भी हैं...