मावठ की बारिश से सर्दी बढ़ी:तापमान में गिरावट के साथ छाया कोहरा, विजिबिलिटी कम होने से वाहन चालकों को आवागमन में हुई परेशानी

टोंक7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिले में बीती रात हुई मावठ के छाया कोहरा। - Dainik Bhaskar
जिले में बीती रात हुई मावठ के छाया कोहरा।

जिले के अधिकांश हिस्सों में बुधवार रात हुई मावठ से रबी की फसल में अमृत बरसा है। इससे किसानों के चेहरे खिल गए है। इस मावठ से रबी की कम पानी की जरूरत वाली सरसों, जौ आदि की फसलों में अब सिंचाई की जरूरत नहीं रहेगी। इससे किसानों के करोड़ों रुपए बचेंगे। गुरुवार सुबह कोहरे छाया रहने से लोगों की दिनचर्या बाधित रही। कोहरे ने वाहनों की रफ्तार को धीमी कर दी। सुबह करीब 10 बजे तक भी सूर्य के दर्शन नहीं हुए। साथ ही आज भी रुक-रुक कर बूंदाबादी हो रही थी।

जानकारी के अनुसार जिले में इस साल रबी फसल की बुवाई का लक्ष्य 4 लाख 7 हजार हेक्टेयर था। इसके मुकाबले 4 लाख 4 हजार 285 हेक्टेयर में बोआई हुई है। अभी किसान इन फसलों की सिंचाई में जुटे हुए थे। इसी बीच बुधवार को हुई जिले के अधिकांश हिस्सों में मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार 2 दिन से मौसमी बदला हुआ है। मावठ का मौसम बना हुआ है। बुधवार रात भी जिले में भी रुक रुक कर मावठ हुई। इससे रबी की फसलों को काफी फायदा मिलेगा। उन्हें नेच्युरल नाइट्रोजन मिलेगी। यह खाद का काम करेगी। इससे फ़सले अच्छी ग्रोथ करेगी। इससे करीब ढाई लाख किसानों को फायदा मिलेगा। सहायक कृषि अधिएकरी सुगर सिंह मीणा ने बताया की यह मावठ सभी फसलों के लिए फायदेमंद है।

कोहरे और ठंडक का असर, घरों से कम निकले लोग मंगलवार रात से शुरू हुई मावठ के बाद गुरुवार सुबह दस बजे तक भी हलका कोहरा छाया रहा। इससे लोग घरों से कम निकले। मौसम के इस बदलाव से रात के तापमान मे भी बदलाव देखने को मिला। बुधवार रात का तापमान 10 डिग्री सेल्सियस रहा। जबकि मंगलवार रात का तापमान 13 डिग्री सेल्सियस था। गुरुवार सुबह तापमान कल की तरह 16 डिग्री सेल्सियस रहा।

खबरें और भी हैं...