कोरोना जागरूकता अभियान / अधिकारियों एवं कर्मचारियों को कोरोना वाॅरियर्स के सम्मान में शपथ दिलवाई

X

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

टोंक. जागरूकता अभियान के तहत अरबी फारसी शोध संस्थान में निदेशक डाॅ. सौलत अली खान ने अधिकारियों एवं कर्मचारियों को कोरोना वारियर्स के सम्मान में शपथ दिलवाई। तत्पश्चात् डाॅ. अशोक कुमार यादव, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी टोंक ने ‘कोरोना के विरूद्ध शब्दों का युद्ध’ विषय पर विस्तार भाषण आयोजित किया गया।समारोह का प्रारम्भ सैयद आरिफ अली द्वारा तिलावते कलामुल्ला शरीफ से किया तथा नाअत शरीफ मिर्ज़ा नज्म बैग ने पढ़ी। राजस्थान में टोंक ऊपर से तीसरे नम्बर पर था। टोंक की जनता ने सरकार द्वारा जारी एडवाइजरी की अक्षरक्षः पालना की, जिसका नतीजा है कि टोंक में आज 200 केस होने के बावजूद भी नीचे से तीसरे स्थान पर है। टोंक में 0.7 प्रतिशत मृत्यु दर है। जिसके अनुसार एक रोगी की मृत्यु हुई है, वो भी किडनी की बीमारी से पीडित था। राज्य स्तर पर मृत्यु दर 3 प्रतिशत है। दिल्ली, मुम्बई व मद्रास में जनसंख्या घनत्व अधिक होने के कारण मृत्यु दर अधिक है। 200 केस में से टोंक में 168 केस शहरी क्षेत्र के है। 32 केस ग्रामीण क्षेत्र के है। इनमें से 18 केस प्रवासी राजस्थान के हैं। कुल 11000 सैंपल की जांच में 200 केस पॉजिटिव पाए गए, जिनमें से 3 केस एक्टिव है। लगातार 70 दिन तक 125 चिकित्साकर्मियों ने अपने घर से दूर रहकर कोरोना संक्रमितों का इलाज किया। डा. रऊफ अहमद खान ने संस्थान द्वारा कोविड-19 के अन्तर्गत कार्यक्रमों की सराहना की। डाॅ. सौलत अली ख़ान ने कहा कि स्वयं को बीमारी से बचाने के लिए फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करें एवं बचाव ही इसका उपाय है। इससे पूर्व सीनियर फिजिशियन डाॅ. रऊफ अहमद खां ने कहा कि कोरोना वायरस अवधि 14 दिन होती है। डाॅ. खान ने कोरोना वायरस की साइज इंसान के बालों से 900 गुना छोटी बताई। वहीं उनका कहना था कि पूरी दुनिया में फैली कोरोना वायरस का वजन 1 ग्राम है। यह वायरस मुंह, नाक व आंखों से फैलता है और यह सबसे अधिक लंग्स (फेफड़ा) को प्रभावित करता है। लंग्स के सेल को नष्ट करना शुरू कर देता है, जिससे सांस लेने में परेशानी होती है। इसमें 80 प्रतिशत अपने आप ठीक हो जाते हैं। 15 प्रतिशत को इलाज की जरूरत पड़ती है तथा 5 प्रतिशत को वेंटीलेटर की जरूरत होती है। यह वायरस 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले व्यक्तिों, डायबटिज, बी0पी0, हाइपरटेंशन, कैंसर आदि से ग्रस्त रोगी तथा 5 वर्ष के कम उम्र वाले बच्चों को अधिक प्रभावित करता है। भाषण के अंत में उन्होंने नारा दिया ’’यही हमारा निशाना है’’ कोरोना को हराना है’।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना