• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Tonk
  • On Average, Once In A Month And A Half, Gas Cylinders Are Filled, Then 3 Lakh 93000 Consumers Of The District Will Have A Burden Of 59 Lakhs, The Budget Of The Kitchen Will Be Disturbed.

रसोई गैस दाम बढ़ने से लाखों उपभोक्ता प्रभावित:जिले में 3.93 लाख उपभोक्ताओं पर असर, 59 लाख रुपए का पड़ेगा अतिरिक्त भार, गैस सिलेण्डर महंगा होने से गड़बड़ाया बजट

टोंक18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
टोंक में वितरण के लिए रखे गैस सिलेण्डर। - Dainik Bhaskar
टोंक में वितरण के लिए रखे गैस सिलेण्डर।

कोरोना संकट के बीच आर्थिक तंगी से गुजरे लोगों का बजट अभी ठीक से संभाला भी नहीं, कि दो दिन पहले ही सरकार ने प्रति गैस सिलेंडर 15 रुपए बढ़ाकर हालत खराब कर दी है। अकेले जिले में ही करीब डेढ़ माह में 59 लाख रुपए का अतिरिक्त भार पौने चार लाख लोगों पर पड़ेगा।

जानकारी के अनुसार जिले में रसोई गैस के करीब 3 लाख 93 हजार उपभोक्ता है। इनमें से 1 लाख 55 हजार उपभोक्ता प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के हैं। अभी दो दिन पहले तक प्रति रसोई गैस सिलेंडर की रेट 905 रुपए थी। सरकार ने दो दिन पहले ही इसे बढ़ाकर प्रति गैस सिलेंडर की कीमत 920 रुपए कर दी है। इसी के साथ एक बार फिर रसोई गैस उपभोक्ताओं पर करीब डेढ़ माह में 15 रुपए का अतिरिक्त भार बढ़ चुका है। इससे जिले के करीब पौने चार लाख उपभोक्ताओं को डेढ़ माह में एवरेज 59 लाख रुपए अतिरिक्त वहन करने पड़ेंगे। जबकि सरकार ने गत दो माह में ही करीब दो बार में 50 रुपए प्रति गैस सिलेंडर पर बढ़ाए थे।

महिलाओं को भी भारी पड़ रहा है बजट
सरकार की ओर से दो तीन माह से लगातार बढ़ाए जा रहे रसोई गैस की कीमत से गृहणियों का घरेलू बजट पूरी तरह से बिगाड़ कर रख दिया हैं। जिस पर चिंता जताते हुए गृहणियों का कहना है कि पहले ही खाने-पीने के सामान पदार्थों, बिजली के दाम बढ़े हुए हैं। अब रसोई गैस के दाम फिर से बढ़ने से हालात दिनों दिन बिगड़ते जा रहे है।

तीन माह में रसोई गैस के दाम बढ़ने की स्थिति
रसोई गैस के दाम 17 अगस्त को 25 रुपए बढ़े थे। फिर एक सितंबर से 25 रुपए बढ़ा दिए। एक पखवाड़े के भीतर ही गैस सिलेंडर में 50 रुपए से ज्यादा की बढ़ोतरी कर दी थी। इसी के साथ टोंक में 14.2 किलोग्राम वजनी घरेलू एलपीजी गैस सिलेंडर के दाम बढ़कर 875 रुपए से बढ़कर करीब 901 रुपए हो गए थे। फिर गत माह में इसके दम बढ़कर प्रति गैस सिलेंडर 905 रुपए हो गए। उसके बाद अब दो दिन पहले ही सरकार ने प्रति रसोई गैस सिलेंडर पर 15 रुपए बढ़ा दिए हैं। टोंक के दयाराम जाटवा, जया विजय, आदि ने बताया कि रसोई गैस सिलेंडर पर आए दिन बढ़ोतरी करने से ये लोगों की पहुंच से बाहर होते जा रहे है।

जिला रसद अधिकारी विनिता शर्मा ने बताया कि जिले में 2 लाख 37 हजार नियमित गैस कनेक्शन के अलावा प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत 1 लाख 55 हजार उपभोक्ता है। ऐसे में जिले में कुल 3 लाख 93 हजार रसोई गैस कनेक्शन हैं।

खबरें और भी हैं...