नुक्ता प्रथा समाप्त:नुक्ता प्रथा समाप्त करने का लिया संकल्प

टोंकएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

 संडीला गांव में नुक्ता प्रथा एवं सामाजिक कुरीतियों को त्यागने का संकल्प लेते हुए ग्रामीणों ने रचनात्मक दिशा में कदम बढ़ाए जाने पर जोर दिया है। ग्राम संडीला में चतरा गुर्जर की मृत्यु हो गई थी, जिनकी बैठक 5 जुलाई 2020 को थी। उसमें गुर्जर समाज के जिलाध्यक्ष रामलाल गुर्जर संडीला की समझाईश पर सामाजिक कुरीतियों पर उनके पुत्र बृजमोहन गुर्जर ने चिट्ठियां छपवाने व नुक्ता नहीं किए जाने का संकल्प लिया है। संडीला ने बताया कि इस दौरान गांव के पंच पटेलों ने एक राय होकर संकल्प लिया कि गांव में सामाजिक कुरीतियों का त्याग कर न नुक्ता करेगें न ही दूसरे गांव में नुक्ता जीमने जाएंगे, न ही तीये की बैठक में चिट्ठी छपवाएंगे। इस निर्णय से गुर्जर समाज में एक नई जागृति आएंगी। समाज के जिलाध्यक्ष संडीला ने बताया कि इस नुक्ता प्रथा आदि कुरीतियों बंद होने से समाज के बच्चे-बच्चियों को उच्च शिक्षा में इस पैसे को खर्च किया जा सकेगा। इस मौके पर जवान गुर्जर, कजोड़मल गुर्जर, गोकूल गुर्जर, खुशीराम गुर्जर, भंवरलाल गुर्जर, जगदीश गुर्जर, श्योजीलाल गुर्जर आदि पंच पटेलों ने बृजमोहन गुर्जर आदि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...