मुशायरे में शायरों ने बांधा समां:सफ़दर टोंकी की याद में आयोजित मुशायरे में शायरों ने बांधा समां

टोंक9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सुभाष बाजार स्थित एक निजी स्कूल में मरहूम सफदर टोंकी के याद में मुशायरे का आयोजन किया गया। देर रात तक चले मुशायरे में शायरों ने समां बांध दिया। मुशायरे की सदारत साहिबजादा कैप्टन शमशेरअली खान ने की। नासेह मदनी व डॉ. अरशद अब्दुल हमीद अतिथि के रुप में माैजूद रहे। कारी सखावत अफजल साहब ने तिलावते कलामुल्लाह से मुशायरे की शुरुआत की तो इमरान राज सैफी ने नाते पाक का नजराना पेश किया। खालिद साबिर हसनी ने सफदर टोंकी की गजल पेश की। इसके बाद नबील सैफी साहब ने गजल के दौर की शुरुआत की। मुशायरे में राज़ सैफी, सुरूर सैफी, अमीन नजमी सैफी, नवाब सैफी, खालिद साबिर हसनी, इज्जत सैफी, अबरार हसनी, नदीम सैफी ने अपने कलाम पेश किए। शातिर सैफी ने अपने कलाम के जरिए लोगो को हंसाया। मुशायरे की सदारत कर रहे साहबजादा कैप्टन शमशेर अली ख़ान ने कलाम सुनाकर और ख़ुत्बा ए सदारत पेश किया। इस मौके पर मुशायरे में यूसुफ खान यूनिवर्सल, मिर्जा नसीम बेग, असलम अंसारी, आबिद शाह, हारिस वासिफी, लतीफ नादान, जुनैद असलम सहित कई लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...