जमीन पर कब्जे को लेकर भिड़े दो पक्ष, 30 घायल:चारागाह भूमि पर अतिक्रमण को लेकर दो पक्षों में लाठी-भाटा जंग, 5 लोग गंभीर हालत में जयपुर रेफर, पुलिस ने तैनात किया अतिरिक्त जाब्ता

टोंकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मालपुरा अस्पताल में घायल और परिजन। - Dainik Bhaskar
मालपुरा अस्पताल में घायल और परिजन।

पचेवर थाना क्षेत्र के माधोपुर खेड़ी गांव में चारागाह भूमि पर कब्जे को लेकर मंगलवार देर रात जाट समाज के लोगों में लाठी- भाटा जंग हो गई। इस खूनी संघर्ष में 30 लोग घायल हो गए। घायलों को इलाज के लिए एंबुलेंस और निजी साधनों से मालपुरा अस्पताल ले जाया गया। 5 घायलों की हालत गंभीर होने पर उन्हें प्राथमिक उपचार के बाद जयपुर जयपुर कर दिया गया। खूनी संघर्ष की सूचना मिलने के बाद देर रात मालपुरा एसपी राकेश कुमार बैरवा, डीएसपी चक्रवर्ती सिंह राठौड़ जाब्ते के साथ मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। उन्होंने हालातों को देखते हुए घटनास्थल और मालपुरा अस्पताल में अतिरिक्त पुलिस जाब्ता तैनात किया है।

एसपी राकेश कुमार बैरवा ने बताया कि पचेवर थाना क्षेत्र के माधोपुर खेड़ी (माधो नगर) में चारागाह जमीन है। इस जमीन पर कब्जा करने को लेकर जाट समाज के दो पक्षों में मंगलवार रात करीब 9.30 बजे खूनी संघर्ष हो गया। इस दौरान दोनों ही तरफ से जमकर लाठी-भाटा चले। इससे 30 लोग घायल गए। घायलों में महिलाएं-पुरुष और युवक-युवतियां भी शामिल है। एसपी ने बताया कि अभी दोनों पक्षों की ओर से मामला दर्ज नहीं कराया गया है। मामला दर्ज होने के बाद पुलिस नियमानुसार कार्रवाई करेगी। साथ ही जल्दी ही विवादित जगह को अतिक्रमण मुक्त किया जाएगा। घटना की जानकारी मिलने के बाद बुधवार को तहसीलदार भी मौके पर पहुंचे और जायजा लिया।

मालपुरा अस्पताल में भर्ती घायल।
मालपुरा अस्पताल में भर्ती घायल।

गांव से अस्पताल तक मची चीख-पुकार
खूनी संघर्ष में एक साथ काफी लोग घायल होने से माधोपुर खेड़ी समेत अस्पताल में चीख-पुकार मच गई। घायलों के जगह- जगह पर चोटें होने से वो लहूलुहान हो गए। घायल दर्द से चीखते रहे। उधर मालपुरा अस्पताल में एक के बाद एक 30 घायल पहुंचने से अफरा-तफरी का माहौल हो गया। व्यवस्था के लिए चिकित्साकर्मी भाग दौड़ करते नजर आए। बाद में फोन कर और भी डॉक्टर्स को बुलाया गया और घायलों का इलाज शुरू किया।

लहूलुहान हालत में घायल।
लहूलुहान हालत में घायल।

गांव में पसरा सन्नाटा, प्रशासनिक टीम पहुंची
माधोपुर खेड़ी गांव में बड़ा खूनी संघर्ष होने से अधिकांश लोग मालपुरा व जयपुर के अस्पताल में है। इसके चलते गांव में सन्नाटा सा पसरा हुआ है। घायलों के साथ ही उनके परिजन भी देखभाल के लिए अस्पताल में मौजूद है। गांव में काफी कम लोग बचे हैं। उधर हालात का जायजा लेने के लिए प्रशासनिक टीम भी घटनास्थल में डेरा डाले हुए हैं।

खबरें और भी हैं...