पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टोंक में लॉकडाउन:आज व कल रोडवेज बसों का संचालन, लॉकडाउन में 24 मई तक बंद रहेंगी

टोंकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले समेत प्रदेश में कोरोना के संक्रमण के बेलगाम होने के साथ यात्रियों की आवाजाही में भी कमी आई है। यहीं कारण है कि लोग बहुत जरूरी होने पर ही घरों से बाहर निकल रहे है। विवाह समारोह समेत अन्य कार्यक्रमों पर भी पाबंदी लगाए जाने से आगार का यात्रीभार महज 35 फीसदी पर आ टिका है। ऐसे में आम दिनों के मुकाबले आगार को रोजाना करीब 5 लाख रुपए की चपत लग रही है।

हालांकि कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने को लेकर राज्य सरकार की ओर से 10 मई से 24 मई के बीच प्रदेश में सम्पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा कर दी गई है। ऐसे में रोडवेज का संचालन शनिवार व रविवार को ही हो सकेगा। सोमवार सुबह 5 बजे से 24 मई सुबह 5 बजे तक रोडवेज का संचालन पूरी तरह बंद रहेगा। महज अस्थि मोक्ष कलश के साथ हरिद्वार जाने वाली रोडवेज ही संचालित हा़े सकेगी। उल्लेखनीय है कि टोंक आगार की ओर से यात्रियों की आवाजाही सुचारू रखने को लेकर कुल 82 शिड्यूल संचालित किए जा रहे थे। इसके बाद बसों के कंडम होने व यात्रीभार में आए गिरावट के चलते पिछले 3 माह से 50 शिड्यूल पर बसों का संचालन किया जा रहा था।

विवाह सीजन होने से 80 फीसदी तक मिलता था यात्रीभार

आगार प्रबन्धक रामचरण गौचर ने बताया कि अप्रैल व मई महीनों में विवाही सीजन होने से रोडवेज निदेशालय की ओर से टोंक आगार को 80 फीसदी तक यात्रीभार मिलता था। इसके चलते आगार को रोजाना की आय करीब 10 लाख रुपए तक हो जाती थी, लेकिन अब यात्रीभार घटकर महज आधा ही रह गया। ऐसे में आगार की आय घटकर महज पांच लाख रुपए में सिमट गई। अब नई गाइडलाइन के बाद 10 से 24 मई तक संचालन स्थगित करने के आदेश मिले है।

खबरें और भी हैं...