पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सामाजिक कार्य:बोटूंदा की सरपंच ने अपने घर को बनाया क्वारेंटाइन सेंटर, 50 बेड की रहेगी सुविधा

टोंकएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बोटूंदा सरपंच शीला राजकुमार मीणा ने स्वयं की पंचायत में कोविड-19 महामारी से निबटने के लिए अपने कुरासिया गांव स्थित पूरे घर को क्वारेंटाइन सेंटर बना दिया है। ताकि कोरोेना पॉजिटिव होने पर ग्रामीणों को किसी तरह की परेशानी नहीं हो। सरपंच शीला राज कुमार मीणा ने बताया कि कोरोना महामारी के दूसरे दौर में तेजी से बढ़ते संक्रमण से निबटने के लिए जनप्रतिनिधि की भागीदारी आवश्यक है।

ऐसे में ग्राम पंचायत बोटूंदा के ग्रामीणों को किसी प्रकार की परेशानी न हो इसके लिए उन्होंने जनहित में आवश्यकता पड़ने पर उनकी पंचायत के ग्राम कुरासिया में स्थित दो मंजिला मकान को क्वारेंटाइन सेंटर बनाने का निर्णय लिया है। जहां पर कोरोना मरीज के लिए 50 बेड तक की व्यवस्था मुहैया कराई जाएगी। जिनके लिए भोजन व दवा आदि की व्यवस्था भी करवाई जाएगी। आवश्यकता पड़ी तो ऑक्सीजन सिलेंडर भी मंगवाए जाएंगे।

क्वारेंटाइन सेंटर पर ये रहेगी सुविधाएं

जिसमें 50 बेड तक की कोरोना मरीज के लिए बेड उपलब्ध रहेंगे। साथ ही मरीज को सुबह शाम स्वयं की ओर से भोजन व नाश्ता चाय दिया जाएगा। जिसके लिए मकान के एक हिस्से में रसोई बनाई जाएगी। उपचार के दौरान मरीज को सामान्य दवा तो वे स्वयं उपलब्ध करवा देंगे।

लेकिन रेमडीशिवर इंजेक्शन व ऑक्सीजन सिलेण्डर की व्यवस्था के लिए प्रशासन से सहयोग लेकर ही मंगवाए जा सकेंगे। मरीजों के समय समय पर चेकअप के लिए चिकित्सक व कम्पाउंडर लगाने हेतु प्रशासन से सहयोग लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...