पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्मृति शेष:अभिनेता दिलीप कुमार के इलाज के लिए टोंक के हकीम भी गए थे

टोंक16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
टोंक। दिलीप कुमार के निवास पर नुस्खा लिख कर देते हकीम जाहिद हसन। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
टोंक। दिलीप कुमार के निवास पर नुस्खा लिख कर देते हकीम जाहिद हसन। (फाइल फोटो)
  • टोंक से टोंक से बरसों तक रहा था अभिनेता दिलीप कुमार का जुड़ाव, निधन पर दी श्रद्धांजलि

ट्रेजेडी किंग साढे 98 वर्षीय दिलीप कुमार हकीमी इलाज में काफी विश्वास रहा, लेकिन वो अपनी जिंदगी का शतक पूरा नहीं कर सके। लेकिन उनकी यादें एवं उनकी खूबियों के चर्चे हमेशा जिंदा रखेंगे। हकीमी इलाज से जुड़ी उनकी यादें उन्हें टोंक से भी जोड़ती है। फिल्म दुनिया के ऐतिहासिक पुरुष अपने अभिनय के जरिए दिलों में जगह बनाने वाले दिलीप कुमार का उपचार उनकी जिंदगी में कई बार, टोंक में पैदा हुए हकीम मुफ्ती अहमद हसन खां साहब ने भी किया। बताया जाता है कि भारतीय सिनेमा जगत की महान हस्ती दिलीप कुमार के स्वास्थ्य के बारे में उनकी पत्नी सायरा बानो फोन पर हकीम साहब से परामर्श भी लिया करती थी।

2016 में करीब 105 साल की उम्र में हकीम साहब का जयपुर में देहांत हो गया। उसके बाद उनके पुत्र हकीम जाहिद हसन साहब ने भी दिलीप कुमार, व उनकी बहन का इलाज किया।कोरोना से पहले हकीम जाहिद हसन साहब फ्लाइट से सायरा बानो के बुलाने पर दिलीप कुमार को देखने सुबह जाते तथा शाम को वापस लौट आते। वर्तमान में हकीम जाहिद हसन साहब जयपुर रहते हैं। बताया जाता है कि सम्भल के रहने वाली मशहूर हकीम रईस साहब से भी उन्होंने 1999 में मुलाकात की तथा उनसे अपने स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए दवाइयां ली। दिलीप कुमार ने अमरोह के मशहूर हकीमों से भी संपर्क बनाए रखा।

हकीम सैयद निसार अली जो 1805 में पैदा हुए तथा 1873 में उनका निधन हुआ। वो टोंक रियासत में नवाब का तबीब- ए- खास होने का जिन्हें गौरव प्राप्त हुआ था। उनके दो पुत्रों ने भी टोंक में हकीमत में बड़ा नाम हांसिल किया। बहरहाल अमरोह के हकीम इस्लाम-उल-सिद्दीकी ने भी दिलीप कुमार एवं सायरा बानों को परामर्श व दवाएं समय-समय पर दी। अपने स्वास्थ्य को लेकर दोनों ही काफी गंभीर रहे। उनको हकीमी उपचार में भी काफी विश्वास रहा। यहीं कारण रहा कि वो देश के कई मशहूर हकीमों के संपर्क में रहे। लेकिन अपनी जिंदगी का शतक पूरा नहीं कर सके और दिलीप कुमार इस दुनिया को अलविदा कह गए।दिलो-दिमाग का लिया उपचारहकीम जाहिद हसन खां के परिजनों ने बताया कि हकीम जाहिद हसन खान व उनके वालिद ने भी दिलीप कुमार का उपचार किया। अक्सर वो दिलो-दिमाग की तक़वियत से मुतालिक उपचार लिया करते थे।

खबरें और भी हैं...