पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

12 दिन में दो चचेरे भाइयों समेत 3 की मौत:एक भाई की डूबने से दूसरे की सीने में दर्द से मौत के बाद महिला ने सांस में तकलीफ से तोड़ा दम; परिवार सदमे में

टोंक18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एक ही परिवार से जुड़े इन लोगों की मौत से परिवार सदमे हैं। - Dainik Bhaskar
एक ही परिवार से जुड़े इन लोगों की मौत से परिवार सदमे हैं।

देवली पंचायत समिति के राजमहल कस्बे के पास गांवड़ी गांव में बीते 12 दिनों के अंतराल में एक परिवार से जुड़े दो चचेरे भाई समेत तीन की हुई मौत से परिवार सदमे में हैं। वहीं गांव में भी दहशत का माहौल बना हुआ है।

ग्रामीणों ने बताया कि 12 दिन पूर्व गांव निवासी सुधीर (20) पुत्र घीसा लाल बैरवा की नदी में डूबने से मौत हो गई। वहीं मंगलवार सुबह सुधीर का चचेरा भाई धनराज (16) पुत्र पप्पू लाल बैरवा की कुछ ही घंटों में सीने में दर्द होने के बाद मौत हो गई। परिजन इन दोनों की मौत के सदमे को भूले भी नहीं थे कि परिवार की फूला देवी (35) पत्नी कमलेश बैरवा की बुधवार सुबह मौत हो गई। इसकी मौत भी परिजन सांस लेने में तकलीफ होने से होना बता रहे हैं।

आज कराया कोरोना टेस्ट

ग्रामीणों की मांग पर बुधवार सुबह राजमहल अस्पताल की टीम ने गांवड़ी गांव पहुंचकर शोकाकुल परिवार के 18 लोगों के सैम्पल लेकर जांच के लिए भिजवाए हैं। राजमहल अस्पताल के डॉ. अली जिशान ने बताया कि पोस्टमार्टम के अभाव में इनकी मौत के कारणों की पुष्टि नहीं हो सकती है।

देवली के डॉक्टर से जानकारी की गई थी। जहां उपचार के दौरान मृतकों में कोरोना जैसे कोई लक्षण नहीं पाए गए थे। परिवार के 18 लोगों के सैम्पल लेकर जांच के लिए भिजवाये गए है। वहीं गांव में आस पास के लगभग 50 घरों का सर्वे किया गया है। जिनमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं मिले हैं। सैम्पल लिए गए परिजनों में भी कोरोना लक्षण दिखाई नहीं दे रहे थे।

खबरें और भी हैं...