पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टोंक के तत्कालीन CMHO मीणा सस्पेंड:डॉ. गोकुल लाल मीणा को सरकार ने किया सस्पेंड, 3 साल पुराने भ्रष्टाचार से जुड़े मामले में आरोप साबित होने के बाद कार्रवाई

टोंक13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
टोंक के तत्कालीन सीएमएचओ डॉ गोकुल मीणा। - Dainik Bhaskar
टोंक के तत्कालीन सीएमएचओ डॉ गोकुल मीणा।

राजस्थान सरकार ने टोंक के तत्कालीन सीएमएचओ डॉ. गोकुल लाल मीणा को सस्पेंड कर दिया है। इनके खिलाफ 3 साल पुराना भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो में भ्रष्टाचार से जुड़ा मामला है। उसमें प्रारंभिक तौर पर भ्रष्टाचार का मामला सिद्ध हो गया था। इस पर विभाग की ओर से लोक अभियोजन स्वीकृति मिलने के बाद सरकार ने यह निर्णय लिया है। इसके आदेश कार्मिक विभाग के शासन उप सचिव डॉक्टर प्रिया बलराम शर्मा ने मंगलवार को जारी किए हैं।

याद रहे कि तत्कालीन टोंक सीएमएचओ डॉक्टर गोकुल लाल मीणा के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो में एक परिवादी ने भ्रष्टाचार का मामला दर्ज कराया था। उस मामले में प्राथमिक तौर पर टोंक सीएमएचओ पद पर रहते हुए मीणा के खिलाफ भ्रष्टाचार करने का मामला सिद्ध हुआ था। इस पर सरकार ने उन्हें सस्पेंड किया है। अब इनके खिलाफ एसीबी में मुकदमा चलाया जाएगा। इसके लिए राज्य सरकार ने 27 जुलाई को अभियोजन स्वीकृति जारी कर दी है। इसकी प्रति टोंक सीएमएचओ में मंगलवार को पहुंच गई है।

सीएमएचओ को मिली आदेश की प्रति
सीएमएचओ डॉ अशोक कुमार यादव ने बताया कि कोई पुराना भ्रष्टाचार से जुड़ा मामला है। एसीबी में जांच हो रही थी। उसमें प्रारंभिक तौर पर मामला भ्रष्टाचार का सिद्ध होने पर तत्कालीन टोंक सीएमएचओ डॉ. गोकुल लाल मीणा को काफी दिनों पहले सरकार ने सस्पेंड कर दिया था, लेकिन आधिकारिक रूप से इसकी सूचना मुझे कल ही मिली है। वहीं मीणा को भी इसके आदेश की कॉपी 10 सितंबर को ही मिली है। सस्पेंड होने से पहले तक तत्कालीन सीएमएचओ डॉक्टर गोकुल लाल मीणा जयपुर में उपनिदेशक एड्स के पद पर कार्यरत थे।

खबरें और भी हैं...